असलहों के जखीरे के साथ 3 सप्लायर चढ़े पुलिस के हत्थे। - Ideal India News

Post Top Ad

असलहों के जखीरे के साथ 3 सप्लायर चढ़े पुलिस के हत्थे।

Share This
#IIN


असलहों के जखीरे के साथ 3 सप्लायर चढ़े पुलिस के हत्थे।


दीपक कुमार गुप्ता ब्यूरो चीफ कैमूर।

4 बंदूक, 1 राइफल के साथ कारतूस बरामद।




कैमूर/भभुआ। जिले के चांद थाना के नक्सल प्रभावित इलाके से एक बड़ी खबर मिली है। रविवार की रात पुलिस के विशेष ऑपरेशन अभियान में असलहों के जखीरे के साथ तीन सप्लायर भी पुलिस के हत्थे चढ़ गए। तलाशी के दौरान 12 बोर के 4 बंदूक के अलावा 1 राइफल, 12 बोर का एक जिंदा कारतूस और 1 मोबाइल बरामद किया गया हैं। पकड़े गए हथियार तस्कर गुलाब चौबे, ज्ञानी चौबे और अभय सिंह  चांद थाना के शिवरामपुर गांव के रहने वाले हैं। आशंका है कि नक्सलियों को सप्लाई करने के मकसद से अवैध हथियारों का खेप लाया गया था। फिलहाल गिरफ्तार हथियार तस्कर सह सप्लायरों से हर सवालों का जबाब पुलिस लेने में लगी है। साथ ही उनके नेटवर्क में और कौन कौन लोग शामिल है।इसके  बारे में भी राज उगलवाने में लगी है।

हथियारों का खेप नक्सलियों तक पहुचने से पहले  ही पहुंच गई पुलिस।

मुखबिरों के जरिए हथियारों की डील होने के  की जानकारी मिलते ही कैमूर जिले के एएसपी (अभियान) नितिन कुमार के नेतृत्व में विशेष पुलिस टीम हरकत में आ गई। फिर ठोस सुराग मिलते ही चांद थाना क्षेत्र के शिवरामपुर में घेराबंदी करके तीनों हथियार सप्यालरों को रंगेहाथ पकड़ लिया। दरअसल कैमूर जिले का शिवरामपुर पहले से ही नकसलग्रस्त इलाका रहा है। ऐेसे हालात में असलहों की ताजा खेप की बरामदगी के बाद पुलिस के साथ ही खुफिया तंत्र के भी होश खड़े हो गए हैं।
लंबे समय से कर रहे हथियारों की सप्लाई

पुलिस की आरंभिक जांच में पता चला है कि पकड़े गए तीनों हथियार सप्यार लंबे समय से असलहों की खरीद-बिक्री मे लगे थे। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि हथियारों की ताजा खेप को कहां से लाया गया और कहा पहुचना था।वैसे यह गिरोह लोकल अपराधियों के अलावा नक्सलियों को भी पिस्तौल, बंदूक, राइफल जैसे हथियारों की डिलिवरी देता था।जैसा कि पुलिस सूत्र बात रहे है।वैसे पूरी तरह से स्थिति जांच के बाद ही स्पस्ट हो पाएगी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad