निर्धारित रेट से अधिक पैसा लेने वाले अस्पतालों का लाइसेंस किया जाय निरस्त : डीएम - Ideal India News

Post Top Ad

निर्धारित रेट से अधिक पैसा लेने वाले अस्पतालों का लाइसेंस किया जाय निरस्त : डीएम

Share This
#IIN
डा मिथिलेश श्रीवास्तव जौनपुर
*निर्धारित रेट से अधिक पैसा लेने वाले अस्पतालों का लाइसेंस किया जाय निरस्त : डीएम* 


 जौनपुर।  जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 संक्रमण के संबंध में बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी के तेवर तल्ख रहा , मीडिया और सोशल मीडिया में वायरल हो रही खबरों को संज्ञान में लेते हुए सीएमओ को आदेश दिया कि मरीजों से निर्धारित रेट से अधिक पैसा लेने वाले अस्पतालों का लाइसेंस निरस्त कर दिया , साथ यह भी आदेश दिया की सभी निजी अस्पतालों में सरकारी मूल्य मोटे अच्छरो में लिखवा दिया जाय। सभी प्राइवेट अस्पतालो को अपने यहां खाली बेड की सूचना डिस्प्ले कराने के निर्देश दिए। 
 डीएम ने डीपीआरओ संतोष कुमार को निर्देशित किया है कि जनपद की निगरानी समितियां सक्रिय रहे और शाम तक रिपोर्ट दे कि निगरानी समितियों को दी गई पल्स ऑक्सीमीटर एवं अन्य आवश्यक संसाधन चालू अवस्था में है कि नहीं। 
उन्होंने कहा कि 05 मई 09 मई 2021 तक अभियान चलाकर होम आइसोलेशन में रह रहे एवं लक्षणयुक्त मरीजों को दवा वितरित कर दी जाए। उन्होंने मतगणना में लगे कार्मिको को प्राथमिक रुप से दवा उपलब्ध कराने एवं उसके उपरांत टेस्ट कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा है कि सभी उपजिलाधिकारी 10 मई 2021 तक सरकार द्वारा लगाए गए लॉक डाउन का सख्ती से पालन कराये। इस दौरान मेडिकल, सब्जी, किराना की दुकाने खुली रहेंगी एवं जनपद में बनाये गए कंटेंनमेंट जोन में 13 मई तक कोई दुकाने नहीं खुलेगी डोर टू डोर सामानों की डिलीवरी की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि ऐसे अस्पताल जो निर्धारित रेट से ज्यादा पैसे ले रहे है उन्हें मुख्य चिकित्साधिकारी नोटिस देते हुए लाइसेंस रद्द करने की कार्यवाही करें। सभी प्राइवेट अस्पतालो को अपने यहां खाली बेड की सूचना डिस्प्ले कराने के निर्देश दिए। डीएम ने यहां तक कहा मुझे पता चला है अस्पताल संचालक 25 हजार रूपये पहले जमा कराने के बाद ही मरीजों को भर्ती कर रहे है। जनपद में रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कोई कमी नही है। उन्होंने कहा कि सी.एच.सी 24 घण्टे कार्यरत रहे, वहाँ आने वाले मरीजो की हालत देखकर समुचित अस्पताल में भेजा जाए। सीएचसी पर भी ऑक्सीजन सिलेंडर देने के व्यवस्था की जा रही है। सभी उपजिलाधिकारी को स्पष्ट रूप से निर्देशित किया कि किसी भी सीएचसी के सामने मरीज लेटे न मिले। उन्होंने सभी उपजिलाधिकारी को तहसील में भी टेलीमेडिसिन की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने जिलापूर्ति अधिकारी अजय प्रसाद सिंह को खाद्यानों का वितरण सामाजिक दूरी के साथ कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कहि भी जुलूस नही निकले, ऐसा करने वाले के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की जाए। 
 इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनपुम शुक्ला, मुख्यचिकित्साधिकारी डॉ राकेश कुमार सहित सभी उपजिलाधिकारी एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad