वैरिएंट का पता लगाने के लिए होगी कोरोना की जीनोम सीक्वेंसिंग - Ideal India News

Post Top Ad

वैरिएंट का पता लगाने के लिए होगी कोरोना की जीनोम सीक्वेंसिंग

Share This
#IIN


नई दिल्ली
 कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर उपजी आशंकाओं के बीच भारत ने जीनोम सीक्वेंसिंग कर वैरिएंट का पता लगाने के लिए 10 लेबोरेटरी का कंसोर्टियम बनाया है। अब उसमें 17 नई लेबोरेटरी को शामिल किया जा रहा है। इस तरह से अब कुल 27 लेबोरेटरी में जीनोम सीक्वेंसिंग का काम किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि वायरस के रोज नए-नए वैरिएंट सामने आ रहे हैं और इस पर नजर रखने के प्रयास तेज कर दिए गए हैं।

नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के निदेशक डॉक्टर सुजीत कुमार ने देश में दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार कोरोना वायरस के वैरिएंट की जानकारी दी। वहीं वैक्सीन लेने के लिए अब कई भारतीय भाषाओं में पंजीकरण करा सकेंगे। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंत्रिमंडलीय समूह की बैठक की जानकारी देते हुए बताया कि अगले हफ्ते से कोविन प्लेटफार्म हिंदी समेत 14 भारतीय भाषाओं में काम करने लगेगा।


अब तक यह प्लेटफार्म सिर्फ अंग्रेजी में उपलब्ध था। ग्रामीण इलाकों में कोरोना के बढ़ते मामले और वहां टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने की जरूरत के मद्देनजर इस फैसले को अहम माना जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कोविन प्लेटफार्म को हिंदी समेत अन्य भारतीय भाषाओं में उपलब्ध कराने के लिए लंबे समय से काम चल रहा था, जो अब जाकर पूरा हो गया है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad