कमरे का दरवाजा तोड़ बाहर निकाला गया युवक का शव, इंजीनियरिंग करने के बाद रांची में रह रहा था - Ideal India News

Post Top Ad

कमरे का दरवाजा तोड़ बाहर निकाला गया युवक का शव, इंजीनियरिंग करने के बाद रांची में रह रहा था

Share This
#IIN

श्रवण सेठी
 मेदिनीनगर (झारखंड) 


कमरे का दरवाजा तोड़ बाहर निकाला गया युवक का शव, इंजीनियरिंग करने के बाद रांची में रह रहा था

शहर थाना क्षेत्र के सुदना में सतबरवा (पलामू) सीओ युगेश्वर सिंह के बेटे सुधीर कुमार सिंह (26) ने अपने घर में फांसी लगा सुसाइड कर ली। युवक इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रांची में रह रहा था। दो दिनों पूर्व ही वो यहां आया था। घटना के वक्त घर में कोई नहीं था। गुरुवार की शाम से ही घर वाले उसे फोन कर रहे थे, लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। दूसरे दिन भी जब उसने फोन नहीं उठाया तब उसके परिजन वहां पहुंचे और दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे। कमरे के अंदर सुधीर का शव पंखे से लटकता मिला। आत्महत्या के पीछे प्रेम प्रसंग को वजह माना जा रहा है।

सीओ युगेश्वर सिंह सतबरवा में ड्यूटी के बाद लातेहार जिला के बरवाडीह थाना क्षेत्र के मेदिनीपुर गांव चले जाते थे। उनका पूरा परिवार इसी गांव में रहता है। वहीं, डाल्टेनगंज स्थित सुदना वार्ड संख्या 10 में शम्भू गेट-ग्रिल के पीछे गली में बना उनका घर फिलहाल खाली था, जहां सुधीर ने सुसाइड किया। तीन बेटी और दो बेटों में सुधीर दो बेटियों के बाद तीसरे नंबर पर था।

टीओपी तीन प्रभारी अभिमन्यु सिंह मौके पर पहुंचकर मामले की छानबीन में लगे हैं। रांची से आने पर सुधीर ने जेलहाता में रहने वाली अपनी बहन से घर की चाभी ली थी। टीओपी तीन प्रभारी अभिमन्यु सिंह ने बताया कि परिजनों से जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक लड़का काफी भावुक प्रवृत्ति का था। उसका किसी लड़की से प्रेम प्रसंग चल रहा था। उसी के चक्कर में उसने आत्महत्या कर ली है। पुलिस ने शव को पोस्टमाॅर्टम के लिए मेदिनीनराय मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल भेज दिया है। पुलिस अपने स्तर से मामले की पड़ताल में लगी है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad