जन समस्याओं के समाधान हेतु संघर्ष रहेगा जारी---ज्ञानेश्वर श्रीवास्तव - Ideal India News

Post Top Ad

जन समस्याओं के समाधान हेतु संघर्ष रहेगा जारी---ज्ञानेश्वर श्रीवास्तव

Share This
#IIN
 जन समस्याओं के समाधान हेतु संघर्ष रहेगा जारी---ज्ञानेश्वर श्रीवास्तव

 (संतोष कुमार नागर) सोनभद्र। 



विकास मंच के अध्यक्ष ज्ञानेश्वर श्रीवास्तव ने अपने क्रांतिकारी स्वभाव के अनुसार कहा कि देवतुल्य जनमानस का निण॔य ऐतिहासिक होगा
हत्या हो या हो गिरफ्तारी प्राण बचे चाहे प्राणजाय जन-जन तक जाना है?जनसमस्या समाधान कराना है ,जनहित विरोधी जनप्रतिनिधियो को हराना है
बाहुबली माफियाओ,भू माफियाओ,अधिकारियो के चंगुल मे फंसे चुप्पी साधे हुए जनहित विरोधी जनप्रतिनिधियों के विरुद्ध 2022 विधायक का चुनाव लड़ मुंहतोड़ जबाब देने मे हम होगे कामयाब,कामयाब होगे एक दिन 
देवतुल्य जनमानस का प्रबल समर्थन इतिहास भरा एक पन्ना है जनहित समस्या समाधान कराना हमारी हार्दिक तमन्ना है छात्रजीवन से सामाजिक उत्थान हेतु अब तक जनहित संघर्ष आपके चरणो मे नमन् करते हुए ससम्मान सादर प्रेषित कर आशीर्वाद का आकाक्षी हूं।
श्री श्रीवास्तव 
पत्रकार/संस्थापक अध्यक्ष सोनभद्र विकास मंच ने आगे कहा कि सन्
1979 पुलिस द्वारा  छात्रों पर हुए बर्बर लाठीचार्ज  के विरोध में भूख हड़ताल के पश्चात सन्1981में  छात्रसंघ का अध्यक्ष निर्वाचित हुआ। 1983 मिर्जापुर जनपद विभाजित कर जिला बनाने एवं क्षेत्रीय जनहित समस्या समाधान कराने हेतु गाँव,नगर,उपनगर में भूख हड़ताल 1984 मे 7 दिन 1987 मे 14 दिन तक नगर पालिका पार्क में भूख हड़ताल पर रहा। तत्कालीन मुख्यमंत्री  नारायण दत्त तिवारी जी के आश्वासन पर स्वास्थ्य मंत्री पंडित लोकपति त्रिपाठी जी के हाथों भूख हड़ताल स्थगित किया । उन्होंने कहा कि सन्
1988 में दलगत राजनीति को दरकिनार कर नगरपालिका का सभासद निर्वाचित होने के पश्चात समस्या का समाधान कराने हेतु सभी सभासदों के समर्थन से भूख हड़ताल किया। पांचवें दिन सभी सभासद के साथ  प्रशासन द्वारा उचित कार्यवाही करने के निर्देश पर भूख हड़ताल स्थगित किया ।इससे नाराज हो तहसील परिसर में जीविकोपार्जन हेतु फोटो स्टेट,फोटोग्राफी हेतु आवंटित भूमि को निरस्त किया गया ।जनहित संघर्ष का चेतावनी दे मशीन निकाल नगर पालिका से तीन माह मे त्यागपत्र दे चुनाव न लड़ने का शपथ लिया ।
1989 जिला बनने की घोषणा हुई ।
1990 में  नारायण दत्त तिवारी जी मेरे आवास पर आकर कहे तुम्हारी माँगे पूर्ण हुई ।अब जनहित हेतु सदैव संघर्षरत रहना तब से अब तक जनहित हेतु सघ॔षरत् हूँ।
1991सीमेंट फैक्ट्री के विक्रय एंव डाला सीमेंन्ट फैक्ट्री गोली काण्ड से मासूम छात्र जयप्रकाश उर्फ राकेश पति तिवारी के साथ आठ कम॔चारियों की हत्या होने एंव अन्य जनहित समस्या समाधान कराने हेतु 1991से 2003 तक जनपद के गाँव,नगर,उप,नगर,मे भूख हड़ताल धरना, प्रदर्शन करता रहा ।जन-जन से मिलता रहा आमजन का चरणस्पर्श अनवरत् करता रहा अब तक जारी है।
जिला चिकित्सालय को सर्वोच्च न्यायालय द्वारा घोषित किलर रोड लोढी ले जाने ,महिला महाविद्यालय को अन्यत्र ले जाने के कुत्सित प्रयास के विरोध मे सोनभद्र विकास मंच का गठन कर 24 से 30 अगस्त 21 से 23 सितम्बर 2007 आमरण भूखहडताल किया ।आमजन के पुण॔ समथ॔न से चिकित्सालय एंव महिला महाविद्यालय खुलवाने मे सफलता हासिल हुई ।  उन्होंने आगे कहा कि विगत
16 जनवरी से 17 मार्च 2008 आमजन द्वारा कराए गए भूखहड़ताल के विरोध मे 15 मई 2008 भष्ट-प्रशासन बाहुबली माफियाओ द्वारा कराये गए प्राणघातक हमला के कारण मस्तिष्क रोग से प्रभावित होने के बावजुद भी   30 मार्च 2010 जनहित समस्याओ का समाधान कराने हेतु भूख हड़ताल किया। दवा के लिए एक रुपए नही दिये गये बल्कि 20 वर्षीय मान्यता प्राप्त पत्रकारिता का नवीनीकरण रोका गया। इसके बावजूद भी जनहित हेतु भूख हड़ताल,धरना,प्रदर्शन,बाजार बंदी, अखण्ड रामायण पाठ,आमजन,द्वरिद् नारायण भोज, बुद्धि शुद्धि यज्ञ,पुतला दहन,नींद हराम करो रैली,हल्ला बोल 
आन्दोलन जन समथ॔न से अनवरत् कराये गये  ।
जन-जन का प्रबल समर्थन इतिहास भरा एक पन्ना है ब्लड बैंक,आई0टी0आई,पोलिटेक्निक, इंजीनियरिंग कालेज,करमा ब्लाक,बालिका इन्टर कालेज,वाराणसी ट्रेन,मेडिकल कालेज खुलवाने मे सफलता हासिल हुई ।
असंवैधानिक कार्यवाही= मेरी 20 वर्षीय मान्यता प्राप्त पत्रकारिता का नवीनीकरण रोका गया पत्नी द्वारा बच्चो के शिक्षा, दिक्षा,जीविकोपाज॔न हेतु छपाई कार्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा रोका गया 1987 की भाँति फोटो,फोटोस्टेट स्टेशनरी,हेतु 2013 तहसील परिसर पर भूमि आवंटित हुई 7200 रुपये भारतीय स्टेट बैंक मे जमा किया ।अब तक रोका गया है ।
पत्नी को बच्चो के शिक्षा- दीक्षा जीविकोपाज॔न हेतु प्रधानमंत्री रोजगार योजना से ऋण स्वीकृत हुआ नोट बंदी पर चल रहे लूट का मेरे द्वारा विरोध किए जाने एंव कमीशन न देने के कारण बैंक आफ बडौदा मे रोका गया  ।पुनः ॠण स्वीकृत हुआ ,भारतीय स्टेट बैंक ने अपने लोगो द्वारा कागज़ात बनवाने,बाउंड्री बनवाने मे लाखो रुपये ब्यय कराने के बाद भी कमीशन न देने के कारण अब तक रोका गया है । 
घर के सामने वाले हाईडिल कालोनी मे परगनाधिकारी का बंगला खाली होने के बाद ढ़ोका बालु 20 वर्षो से 2 एम्बेसडर एवं11वष॔ से बच्चो के शिक्षा, दीक्षा जीविकोपाज॔न हेतु रावट॔सगंज से पन्नुगंज तक चलने वाली ॠण पर एक गाडी मैने एवं एक गाडी बड़े भाई ने लिया था साल भर मे ही परिवहन एवं पुलिस का मासिक लेन -देन का विरोध किये जाने के कारण गाडी बार-बार बन्द करने एवं रोके जाने से चिन्तित हो गाडी वही खड़ा कर दिया ।एक वष॔ पुव॔ ही बाहुबलियो द्वारा एक एम्बेसडर मे आग लगा कर जला दिया गया दुखद होने के बावजूुद
भी हमने कोई लिखित कार्यवाही नही किया ।
बच्चे शिक्षा-दीक्षा जीविकोपाज॔न के अभाव से त्रस्त हैरान हो त्राहि-त्राहि कर रहे थे फिर भी कभी रुका नही कभी झुका नहीं बच्चों के शिक्षा-दीक्षा जीविकोपार्जन हेतु पिता के नाम पर लगे कलंक मिटाने हेतु जमीन बेच ब्यापार हेतु मे0 ज्ञानेश्वर इण्टर प्राइजेज एवं ऑफसेट प्रिंटिंग प्रेस पिछे लगाकर सामने ब्यापार हेतु  लकड़ी
की गोमती लगवाया बाहुबली माफियाओ के दबाव में
जिला प्रशासन,पुलिस-प्रशासन,नगरपालिका मिलकर रोक लगा दिया है ।बच्चे हताश हो त्राहि-त्राहि कर रहे है फिर भी कभी रुकूँगा नही कभी झुकूंगा नही।
खुद मझदार मे होकर भी हर परिस्थिति मे उम्मीद का दामन थामे हुए जनहित समस्या समाधान कराने हेतु आदिवासी बनवासी गिरीवासी ऊर्जा राजधानी सोनभद्र मे  जब तक प्राण बचा रहेगा तब तक सघ॔षरत् रहूँगा। उन्होंने भाउक होकर आगे कहा कि जनसमस्या समाधान कराने एंव प्राणघातक हमला कराये जाने के कारण मस्तिष्क रोग से प्रभावित होने के बावजूद भी मेरे द्वारा भूख हड़ताल,धरना,प्रदर्शन के विरोध मे किये जारहे असंवैधानिक कार्यवाही पर अनेकानेक बार 
पत्र प्रेषित,कार्यालय,आवास जाकर वार्तालाप कर जाँच कराने का आग्रह किया। बाहुबलीयो,माफियाओ भू माफियाओ,अधिकारियो के चंगुल मे फसे जनप्रतिनिधि
चुप्पी साधे हुए है ।चुनाव में दण्ड के भागीदार होंगे ।     
समस्याओ का समाधान होगा या होगा प्राणान्त जिसकी पुण॔ जिम्मेदारी शाशन प्रशासन जनहित विरोधी जनप्रतिनिधियों की होगी।
किसी एक विभाग एंव संस्था की जाँच कराई जाय तो सभी विभागो की कलई खुल जायेगी दुध का दूध पानी का पानी होगा मेरे द्वारा लगाए गए आरोप अगर गलत हो तो मुझे गिरफ्तार कराके दण्डित कराये अगर सही हो तो दोषियो को दण्डित कराने की महति अनुकम्पा करे ।
दुध का दुध पानी का पानी होगा । 

आपका अपना 
ज्ञानेश्वर प्रसाद श्रीवास्तव 
पत्रकार/संस्थापक अध्यक्ष सोनभद्र विकास मंच 
सम्पर्क सूत्र 9125363692,9450816294 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad