बारात की खुशियां मातम में हुई तब्दील* *बारात जाने से पहले उठी चाचा की अर्थी* *वाहन की चपेट में आने से दूल्हे के चाचा की गई जान* - Ideal India News

Post Top Ad

बारात की खुशियां मातम में हुई तब्दील* *बारात जाने से पहले उठी चाचा की अर्थी* *वाहन की चपेट में आने से दूल्हे के चाचा की गई जान*

Share This
#IIN

*बारात की खुशियां मातम में हुई तब्दील*
        *बारात जाने से पहले उठी चाचा की अर्थी*
        *वाहन की चपेट में आने से दूल्हे के चाचा की गई जान*


राजेश गुप्ता मानी कला



*खेतासराय(जौनपुर):-* बारात ले जाने की तैयारी हो रही थी। खुशियों से महिलाएं गीत गा रही थी। बाजे की धुन पर लोग नाच रहे थे। लेकिन इसी कौन जानता था। यह खुशी चन्द मिनट में मातम में तब्दील हो जाएगी। बारात जाने के लिए बाराती बनकर लोग गाड़ी में बैठने जा रहे थे। तभी दूल्हा का चाचा सड़क दुर्घटना का शिकार हो गया। जिससे उसकी मौत हो गईं। जानकारी के अनुसार क्षेत्र के गोरारी गांव से बुधवार की देर शाम भतीजे की बारात जाने के दौरान अज्ञात वाहन की चपेट में आकर दूल्हे के चाचा की मौत हो गई। सूचना पाकर मौके पर पहुँची पुलिस ने शव को कब्जे में लेने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना से परिजनों में शादी की खुशियों का माहौल गम में डूब गया। गोरारी गांव निवासी 48 वर्षीय राधेश्याम विश्वकर्मा के भतीजे सोनू की बारात मवई गांव जा रही थी। शादी में शामिल होने के लिए दो सप्ताह पहले राधेश्याम विश्वकर्मा अपने परिवार के साथ मुंबई से घर आए थे। बुधवार की शाम दूल्हा समेत अधिकतर बाराती घर से निकल चुके थे। दूल्हे के चाचा राधेश्याम भी वाहन में बैठने के लिए घर निकल कर सड़क पार कर रहे थे। तभी जौनपुर की तरफ से आ रही अज्ञात स्कार्पियो उन्हें रौंदते हुए निकल गई। स्थानीय लोगों की मदद से नगर के एक निजी अस्पताल ले जाया गया। जहां डाक्टरों ने राधेश्याम को मृत घोषित कर दिया। घर में जहां मंगल गीत गाए जा रहे थे वहीं महिलाएं दहाड़े मारकर रोने लगी। किसी तरह शादी होने के बाद दूल्हन के साथ दुल्हा घर पहुंचा। पूरे परिवार में गम का माहौल है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad