नदियों में बहते शवों का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट - Ideal India News

Post Top Ad

नदियों में बहते शवों का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

Share This
#IIN


नई दिल्ली

 नदियों में बहते शवों के मामले में सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल हुई है। इसमें त्रिस्तरीय कमेटी बना शवों का सम्मानपूर्वक अंतिम संस्कार कराने और गंगा के किनारों को पारिस्थितिक रूप से संवेदनशील क्षेत्र घोषित करते हुए उन्हें संरक्षित करने की मांग की गई है। शीर्ष अदालत में यह याचिका वकील विनीत जिंदल ने दाखिल की है।

इसमें केंद्र सरकार, नेशनल मिशन फार क्लीन गंगा, उत्तर प्रदेश सरकार, उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, बिहार राज्य और बिहार प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को पक्षकार बनाया गया है। याचिका में केंद्र, राज्य और पंचायत या म्यूनिसिपल स्तर पर कमेटी गठन के लिए सरकार को निर्देशित करने की मांग की गई है।

ये कमेटियां शवों का सम्मानपूर्वक अंत्येष्टि करवाएंगी। नदी तट से शवों को हटाकर गड्ढे भरे जाएं और किनारों की पारिस्थितिकी बहाल की जाए। याचिका में कहा गया है कि नदी के किनारे शवों को दफनाना स्थायी तौर पर उसका पारिस्थितिक संतुलन नष्ट करता है और उसकी भूगर्भ जल भरण क्षमता को प्रभावित करता है। यह पब्लिक ट्रस्ट के सिद्धांत का उल्लंघन है जो संविधान में अनुच्छेद 21 के तहत मिले जीवन के अधिकार का हिस्सा है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad