बीमार मां की दिन-रात सेवा के लिए आइएएस बेटे ने छोड़ी कलेक्टरी - Ideal India News

Post Top Ad

बीमार मां की दिन-रात सेवा के लिए आइएएस बेटे ने छोड़ी कलेक्टरी

Share This
#IIN



ग्वालियर

 2013 बैच के मध्यप्रदेश कैडर के आइएएस अनूप कुमार सिंह ने पिछले दिनों अपनी कलेक्टरी इसलिए ठुकरा दी थी, क्योंकि उनके लिए बीमार मां की सेवा करना ज्यादा महत्वपूर्ण था। उन्होंने दिन-रात मां की सेवा की भी, मगर 35 दिन तक ग्वालियर के अस्पताल में संघर्ष के बाद उनकी मां रामदेवी का मंगलवार को निधन हो गया।


अनूप कुमार सिंह जबलपुर में अपर कलेक्टर के पद पदस्थ हैं। हाल ही में सात मई को मध्य प्रदेश शासन ने उन्हें दमोह जिले का कलेक्टर पदस्थ करने के आदेश जारी किए थे, लेकिन बीमार मां की सेवा के लिए सिंह ने पहली बार मिलने जा रही कलेक्टरी को अस्वीकार करते हुए ज्वाइन करने में असमर्थता जता दी थी। शासन ने उनकी स्थिति जानने के बाद आदेश में बदलाव कर उन्हें जबलपुर में ही पदस्थ रखा था।

आइएएस सिंह मूलत: उत्तर प्रदेश के कानपुर के रहने वाले हैं। इटावा में भी घर है। बीमारी के दौरान उनकी मां इटावा में ही थीं। उनके परिवार में पिता और तीन बहनें हैं। एक बहन की शादी हो चुकी है। फरवरी, 2019 में अनूप कुमार सिंह ग्वालियर में बतौर अपर कलेक्टर पदस्थ हुए और 14 जून, 2020 तक रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad