गर्मियों में खरबूजा खाना इन बीमारियों को करता है कम - Ideal India News

Post Top Ad

गर्मियों में खरबूजा खाना इन बीमारियों को करता है कम

Share This
#IIN



DR RJ GUPTA

गर्मियां शुरू होते ही तमाम बीमारियां दस्तक देने लगती हैं. इन मौसम में कई ऐसे फल हैं, जो आपको इन बीमरियों से बचाता है. इस सीजन में तरबूज और खरबूज फलों की मांग बढ़ गई है. खरबूज के सेवन की बात की जाए तो यह हमारे स्वास्थ्य के लिए एक रक्षा कवच की तरह काम करता है. आज हम आपको बताएंगे खरबूज के फायदों के बारे में जिनका सेवन नियमित करने से आप कई बीमारियों की चपेट में आने से बच सकते हैं.

डिहाइड्रेशन एक ऐसी अवस्था है जो गर्मियों में कई लोगों की मौत का कारण भी बन जाती है. वो लोग जो गर्मियों में ज्यादा बाहर रहते हैं उन्हें डिहाईड्रेशन की समस्या होने का खतरा ज्यादा रहता है. ऐसे लोगों को खरबूज का सेवन अधिक करना चाहिए जिससे डिहाईड्रेशन जैसी समस्या से बचा जा सके

दरअसल खरबूज में पानी की मात्रा ज्यादा पाई जाती है. जो शरीर को हाइड्रेट करने में हेल्प करता है.कई लोग इसका सेवन सिर्फ स्वाद के लिए करते हैं लेकिन आपको ये जानकर थोड़ी हैरानी हो सकती है कि कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से खरबूज आपके शरीर को सुरक्षा प्रदान करता है. खरबूज में फोलेट की मात्रा पाई जाती है. जो इस गंभीर बीमारी से लड़ने में मदद करता है. इसी के साथ ये फल किडनी को भी उत्तम बनाए रखने के लिए फायदेमंद साबित होता है.

खरबूजे में मैग्नीशियम की मात्रा पर्याप्त रूप से पाई जाती है जो हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से बचाने में काफी मददगार साबित होता है. इतना ही नहीं, शरीर को हाइड्रेट रककर भी हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से काफी हड तक बचा जा सकता है.इसी के साथ इस फल में फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है जिससे डायबिटीज की चपेट में आने से ये फल आपको बचाए रखने के साथ-साथ पाचन तंत्र को भी सक्रिय रूप से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है.

खरबूजे में बीटा कैरोटीन नामक पोषक तत्व पाया जाता है जो विटामिन एक का एक स्वरूप ही है. विटामिन एक आंखों के लिए काफी लाभदायक माना जाता है. इसलिए आंखों का ख्याल रखने के लिए भी इसे अपनी डाइट में शामिल करना एक अच्छा रिजल्ट देता है.
ये एक ऐसा फल है जिसमे विटामिन सी की भी पर्याप्त मात्रा पाई जाती है. विटामिन-सी ब्लड कोशिकाओं, मांसपेशियों, हड्डियों में स्थित कोलेजन आदि के निर्माण में सक्रिय भूमिका निभाता है.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad