29 साल के इस भारतीय गेंदबाज के लिए बंद हो गए टीम इंडिया के दरवाजे - Ideal India News

Post Top Ad

29 साल के इस भारतीय गेंदबाज के लिए बंद हो गए टीम इंडिया के दरवाजे

Share This
#IIN


नई दिल्ली

 भारतीय क्रिकेट टीम में उन खिलाड़ियों को मौका मिलता है जो घरेलू स्तर पर यानी रणजी ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन करता है साथ ही साथ अब खिलाड़ियों के आइपीएल के प्रदर्शन को भी तवज्जो दी जाती है। अब 2019-20 सीजन में घरेलू स्तर पर लेफ्ट आर्म पेसर जयदेव उनादकट ने सबसे ज्यादा 67 विकेट लिए। उनके इस शानदार प्रदर्शन के बावजूद उन्हें इंग्लैंड दौरे के लिए भारतीय टेस्ट टीम में जगह नहीं दी गई। जयदेव उनादकट इस वक्त 29 साल के हैं, लेकिन उन्हें लेकर भारतीय सेलेक्टर का कहना है कि, वो भारतीय टीम में चयन के लिए अब बूढ़े हो चुके हैं। 

टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज करसन घावरी ने एक खुलासा किया और बताया कि, उन्होंने बीसीसीआइ के एक सेलेक्टर से बात की थी और उस चयनकर्ता ने कहा कि, बोर्ड उनके नाम पर विचार नहीं करेगा। घावरी ने कहा कि, मैंने 2019-20 सीजन के रणजी ट्रॉफी फाइनल के दौरान एक सेलेक्टर से पूछा था कि, अगर कोई गेंदबाज 60 से ज्यादा विकेट लेता है और अपनी टीम को अपनी गेंदबाजी के दम पर फाइनल तक पहुंचाता है तो उसे कम से कम इंडिया ए टीम में तो सेलेक्ट किया जाना चाहिए। इसके बाद उस सेलेक्टर ने मुझसे कहा कि, करसन भाई वो अब भारतीय टीम में कभी नहीं चुने जाएंगे। हमलोग लगभग 30 साल के हो चुके खिलाड़ी के नाम पर विचार नहीं करते। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad