बढ़ते कोरोना संक्रमण को देख डीएम के आदेश से जिले की तीन नगर पालिका क्षेत्र 13 मई तक बने कंटेंट जोन - Ideal India News

Post Top Ad

बढ़ते कोरोना संक्रमण को देख डीएम के आदेश से जिले की तीन नगर पालिका क्षेत्र 13 मई तक बने कंटेंट जोन

Share This
#IIN
डा मिथिलेश श्रीवास्तव जौनपुर
*जौनपुर: बढ़ते कोरोना संक्रमण को देख डीएम के आदेश से जिले की तीन नगर पालिका क्षेत्र 13 मई तक बने कंटेंट जोन,*



जौनपुर। जिला मजिस्ट्रेट मनीष कुमार वर्मा द्वारा अवगत कराया गया है कि कोविड-19 द्वारा जनित महामारी पर प्रभावी नियंत्रण हेतु बड़े भौगोलिक क्षेत्र जैसा कि शहर या जिला अथवा इस प्रकार के अन्य स्थान जहां ऐसे मामले बहुत अधिक हैं और लगातार उसमें बढ़ोतरी हो रही है, को भौतिक रूप से कंटेंन का निर्माण किए जाने हेतु जिला मजिस्ट्रेट को अधिकार प्रदान किए गए हैं जिसके अंतर्गत नगर पालिका परिषद जौनपुर में 122, नगर पालिका परिषद शाहगंज में 11, नगर पंचायत मछलीशहर में 6 सक्रिय  मरीज होने के कारण संक्रमण दर 13 से 15 प्रतिशत है एवं कोविड-19 एवं चिकित्सालय में आईसीयू, ऑक्सीजन 

समर्थित 90 प्रतिशत भरे हुए हैं।कोविड-19 में प्रसार के कारण प्राण का संकट बना हुआ है। जिसके कारण भौतिक वृहद कंटेन बनाए जाना आवश्यक है।

उक्त शासनादेश के अनुपालन में नगर पालिका परिषद जौनपुर में के प्रकरणों पर नियंत्रण के जिला मजिस्ट्रेट द्वारा 30 अप्रैल से 13 मई 2021 दिन गुरुवार तक संपूर्ण नगर पालिका परिषद जौनपुर, थाना क्षेत्र कोतवाली व लाइन बाजार, नगर पंचायत मछलीशहर, थाना क्षेत्र मछलीशहर, नगरपालिका परिषद शाहगंज, थाना क्षेत्र शाहगंज का आदेश पारित किया है।

नगर पालिका परिषद आवश्यक सेवाओं तथा मतगणना कार्यों से जुड़े अन्य किसी आवागमन की अनुमति नहीं होगी। नगर पालिका परिषद एवं फायर ब्रिगेड के द्वारा अभियान चलाकर  व्यापक रूप से सैनिटाइजेशन का कार्य किया जाएगा। र्धारित एस.ओ.पी के अनुसार सभी संबंधित विभागों द्वारा कार्यवाही की जाएगी। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी दुकाने, व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। आवश्यक सेवाओं की सुचारू आपूर्ति हेतु नगर मजिस्ट्रेट या उप जिलाधिकारी के साथ जिला पूर्ति अधिकारी समन्वयक और आपूर्ति सुनिश्चित कराएंगे। 

कंटेंन में जांच व आवश्यक दवाओं की पूर्ति मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा की जाएगी। कंटेंन की एस.ओ.पी. का अनुपालन संबंधित नगर मजिस्ट्रेट या उप जिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी, अधिशासी अधिकारी व संबंधित थानाध्यक्ष की जिम्मेदारी होगी। काँटेन्मेंट क्षेत्र हेतु निर्धारित गाइडलाइन के अनुपालन की प्रतिदिन समीक्षा अपर जिलाधिकारी भू राजस्व द्वारा की जायेगी और जिस क्षेत्र में अनुपालन से विचलन पाया गया उनके खिलाफ कार्यवाही भी संपादित की जाएगी। उन्होंने आम-जनमानस से अपील है कि संबंधित कंटेनमेन्ट ज़ोन के लोग अपने घरों में रहे। अनावश्यक न घूमे, न ही भय का वातावरण पैदा करें, शांति बनाए रखें, जो भी कोविड-19 के लक्षणों वाले व्यक्ति हैं उनकी जांच कराएं और उन्हें क्वारेनटाइन में रहने हेतु कहे। कही भी भीड़ इकट्ठा न हो, इस वायरस का प्रसार भीड़ के माध्यम से ही होता है। कोविड- 19 के प्रभावी नियंत्रण हेतु धार्मिक कार्यक्रमों को घर के अंदर ही मनाया जाए। 

शादी समारोह में बंद स्थानों पर 50 व्यक्तियों के साथ एवं खुले स्थानों पर 100 व्यक्तियों के प्रतिबंध के साथ मास्क, सामाजिक दूरी एवं सैनिटाइजर के साथ और कोविड-19 के अनुसार अन्य सावधानियां के साथ अनुमति होगी। 

अंतिम संस्कार हेतु अधिकतम 20 व्यक्तियों की अनुमति होगी। कोविड-19 का अनुपालन कराते हुए सार्वजनिक परिवहन को विशेष रूप से राज्य की परिवहन बसों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ चलाने की अनुमति होगी।

प्रेस प्रिंट/इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को परिचय पत्र के साथ अनुमति होगी। समस्त सरकारी और निजी कार्यालय अपने 50 प्रतिशत कर्मचारियों के रोस्टर के अनुसार शेष कर्मचारी वर्क फ्रॉम होम/मुख्यालय पर रहकर काम करेंगे, आवश्यकता पड़ने पर कार्यालय में उपस्थित होंगे। व्यक्तियों को एक समूह के रूप में इकट्ठा होने जो कि कोविड-19 वायरस के प्रसार का एक मात्र माध्यम है प्रतिबंधित करते हुए वॉयरस के प्रसार को नियंत्रित किया जाए। 

       समस्त शॉपिंग कांप्लेक्स, सिनेमा हॉल, रेस्टोरेंट एवं बार, खेल कांप्लेक्स, स्विमिंग पूल और धार्मिक स्थानों को बंद किया जाए।आवश्यक सेवाएं एवं गतिविधियां जैसे स्वास्थ्य सेवा पुलिस, अग्नि, बैंक, विद्युत, जल एवं सिंचाई आम परिवहन के निर्धारित संचालन को जारी रखा जाए। इस प्रकार की सेवाएं सरकारी एवं निजी दोनों क्षेत्रों में लागू होंगे। स्वास्थ्य विभाग द्वारा वायरस को नियंत्रित करने के लिए ऐसे व्यक्ति जिनके पास पोजटिव होने का संदेह है तथा सार्स कोव टू पॉजिटिव व्यक्ति एस ए आर आई मामलों फ्लू जैसे लक्षणों को प्रकट करने वाले व्यक्ति इत्यादि का परीक्षण कर क्वॉरेंटाइन किया जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि वह इकट्ठे न हो और इस प्रकार के संक्रमण को फैलाने में सक्षम न हो उक्त समस्त पॉजिटिव व्यक्तियों एवं उनके संपर्क में आने वाले अन्य लोगों को क्वॉरेंटाइन, आइसोलेट करके परीक्षण किया जाए।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad