प्रतापगढ़ में मिलावटी शराब पीने से सगे भाइयों समेत आठ लोगों ने दम तोड़ा - Ideal India News

Post Top Ad

प्रतापगढ़ में मिलावटी शराब पीने से सगे भाइयों समेत आठ लोगों ने दम तोड़ा

Share This
#IIN


Atpee Mishra

प्रयागराज

 यूपी में प्रतापगढ़ जिले के उदयपुर थाना क्षेत्र में मंगलवार रात से अब तक शराब पीने के बाद दो सगे भाइयों समेत आठ लोगों की मौत हो गई। यह साफ नहीं हो सका है कि शराब मिलावटी थी अथवा जहरीली। इस मामले में एसओ उदयपुर को लापरवाह मानते हुए निलंबित कर दिया गया है। प्रयागराज से पहुंची आबकारी विभाग की टीम ने भी जांच की। एडीजी जोन भी शाम को प्रतापगढ़ पहुंच गए।

बताया जा रहा है कि राहुल कोरी (20) अपने मामा शिवराम कोरी के घर पर रहता था। शराब पीने के चलते बुधवार देर रात उसे भी उल्टी व पेट दर्द की शिकायत हुई। जिस पर स्वजन उसे असैदापुर संयुक्त अस्पताल गौरीगंज, अमेठी ले गए। जहां इलाज के दौरान गुरुवार सुबह करीब 8:00 बजे मौत हो गई। इस तरह शराब पीने से अब कुल मृतकों की संख्या बढ़कर 8 हो गई है।

 कटरिया गांव में ग्राम प्रधान चुनाव लडऩे की तैयारी कर रहे दावेदार के घर मंगलवार रात दावत थी। उसमें शराब भी बांटी गई। रामखेलावन कोरी के बेटे दिलीप कोरी (50) प्रदीप कोरी (35) व उसके मामा सिद्धनाथ (60) निवासी रांकी थाना उदयपुर के अलावा कटरिया गांव निवासी रामपाल सरोज (45), धर्मेंद्र सिंह (36), राममिलन कोरी (35) पुत्र बिंदेसी कोरी, ओमप्रकाश (40) व उसके पिता शिवचरन (62) और आहार बीहर थाना उदयपुर निवासी राजकुमार प्रजापति (45) दावत में शामिल थे। शराब पीने के बाद रात साढ़े नौ बजे सभी की तबीयत बिगडऩे लगी। ग्रामीण उन्हें सीएचसी सांगीपुर ले गए। यहां इलाज के दौरान रामपाल सरोज ने दम तोड़ दिया। रायबरेली जिला अस्पताल ले जाए गए दिलीप कोरी और प्रदीप कोरी को भी चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। अमेठी के मुंशीगंज अस्पताल में भर्ती सिद्धनाथ की भी मौत हो गई। अमेठी जिला अस्पताल में भर्ती राजकुमार ने बुधवार सुबह दम तोड़ दिया। वहीं असैदापुर गौरीगंज जिला अस्पताल में भर्ती राममिलन कोरी की भी बुधवार रात करीब आठ बजे मौत हो गई। धर्मेंद्र सिंह को उसके स्वजन इलाज के लिए लखनऊ ले गए हैं। ओमप्रकाश का जिला अस्पताल और उसके पिता शिवचरन का सांगीपुर सीएचसी में इलाज चल रहा है। उनकी हालत स्थिर है। आहर बीहर गांव के किसन सरोज की भी मौत हुई है। उसकी अंत्येष्टि सुबह कर दी गई। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad