महामंडलेश्वर भारती बापू नहीं रहे - Ideal India News

Post Top Ad

महामंडलेश्वर भारती बापू नहीं रहे

Share This
#IIN


Shailesh Tiwari

अहमदाबाद

गुजरात में सौराष्ट्र के जाने-माने संत महामंडलेश्वर भारती बापू का शनिवार देर रात निधन हो गया। देश के संत समाज में भारती बापू का बड़ा नाम है। पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने उनके निधन पर दुख जताया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी उनमें गहरी आस्था थी। अहमदाबाद के सरखेज भारती आश्रम मैं रविवार सुबह उनका पार्थिव देह दर्शनार्थ रखा गया। इसके बाद सौराष्ट्र के जूनागढ़ में स्थित भवनाथ आश्रम में उनको समाधि दी जाएगी। सौराष्ट्र सहित गुजरात भर में भारती बापू का बड़ा नाम है तथा लाखों की संख्या में उनके श्रद्धालु हैं। सौराष्ट्र में आध्यात्मिक प्रवृत्तियों गौशाला सामाजिक तथा सांस्कृतिक जागरण के लिए भारती बापू ने कई उल्लेखनीय काम किए हैं।

सौराष्ट्र के जूनागढ़ में हर साल होने वाले शिवरात्रि महोत्सव का आयोजन मैं भारती बापू का अहम योगदान होता था। देशभर से लाखों की संख्या में साधु संत नागा बाबा और संत समाज से जुड़े हुए लोग महाशिवरात्रि मेले में जूनागढ़ आते हैं। गिरनार की तलहटी में बने भगवान शिव के मंदिर दर्शन के लिए हर साल लोगों का यहां आने का तांता लगा रहता है। भारती बापू के निधन से संत समाज को ही नहीं गुजरात प्रदेश तथा देश के साधु समाज को अपूरणीय क्षति पहुंची है। सौराष्ट्र वैसे भी संतों का इलाका रहा है। हर जिले में कोई ना कोई पुण्यात्मा संत व धर्मात्मा ने वहां की धरा को पावन किया है। संत जलाराम, रंग अवधूत, बापा सीताराम आदि कई संतों ने सौराष्ट्र के आध्यात्मिक जीवन को एक ऊंचाई दी है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad