देश के कई शहरों में लॉकडाउन - Ideal India News

Post Top Ad

देश के कई शहरों में लॉकडाउन

Share This
#IIN



नई दिल्ली

 पहले केरल और उसके बाद महाराष्ट्र में बढ़ते मामलों से देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के जो संकेत मिले थे, पंजाब, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और गुजरात समेत कुछ राज्यों में मरीजों की संख्या में आए उछाल ने उसकी पुष्टि कर दी है। हालात बयां कर रहे हैं कि वैश्विक महामारी की दूसरी लहर पहली से भी ज्यादा संक्रामक है। फिलहाल थोड़े सुकून की बात यह है कि दूसरी लहर अभी तक ज्यादा घातक नजर नहीं आ रही।

हालांकि, छह महीने बाद एक दिन में करीब 82 हजार नए मामले मिले हैं और लगभग चार महीने बाद 469 लोगों की मौत भी हुई है, लेकिन नमूनों की जांच की तुलना में दैनिक मृतकों की संख्या पहले की तुलना में कम है।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से शुक्रवार की सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटों के दौरान देश भर में कोरोना संक्रमण के 81,466 नए मामले मिले हैं।

मध्यप्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के चलते राज्‍य में चार जिलों मे एक दिन से अधिक का लॉकडाउन  लगाने का फैसला लिया गया है। छिंदवाड़ा में तीन दिन और बैतूल ,खरगोन और रतलाम में दो दिन की पूर्णबंदी का आज रात से लागू हो जाएगा है। बता दें गुरुवार को मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 2546 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 2,98,057 हो गई है। इसके मद्देनजर मध्‍य प्रदेश शासन ने यह कदम उठाया है। 

वहीं, एमपी के 11 जिलों के 12 शहरों में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार को सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन रहेगा। इंदौर, भोपाल, जबलपुर, छिंदवाड़ा, रतलाम, बैतूल और खरगोन में पहले से ही लॉकडाउन का आदेश है। ग्वालियर, उज्जैन, विदिशा, नरसिंहपुर और छिंदवाड़ा जिले के सौंसर में भी लॉकडाउन लगाने का आदेश जारी किया गया है।

राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस की रफ्तार ने फिर से परेशानी खड़ी कर दी है। पिछले दिनों रोजाना एक हजार से कुछ अधिक नए मामले आ रहे थे, वहीं अप्रैल के पहले ही दिन दिल्ली में 2790 नए मामले और दो अप्रैल को जब सीएम केजरीवाल कोरोना पर आपात बैठक कर रहे थे उस दौरान 3583 नए मामले सामने आए। इसके बाद शुक्रवार को सीएम केजरीवाल ने आपात बैठक बुलाई। इस बैठक में दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों की चर्चा की गई। चर्चा के बाद सीएम केजरीवाल ने लॉकडाउन न लगाने का फैसला किया है। इसके साथ ही उन्होंने टीकाकरण पर भी अपनी बात कही है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि देश के लिए कोरोना की दूसरी लहर हो सकती है, दिल्ली के लिए कोरोना की चौथी लहर है। बहुत तेजी से कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। ये चिंता का विषय है, लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है। सरकार पूरी निगरानी कर रही है। जो भी कदम उठाने चाहिए, वह उठा रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad