काव्यसृजन परिवार के समस्त पदाधिकारियों की वार्षिक बैठक (सभा) संपन्न* - Ideal India News

Post Top Ad

काव्यसृजन परिवार के समस्त पदाधिकारियों की वार्षिक बैठक (सभा) संपन्न*

Share This
#IIN
रिपोर्ट : अंजनी कुमार द्विवेदी
  कार्याध्यक्ष 
काव्यसृजन परिवार
*काव्यसृजन परिवार के समस्त पदाधिकारियों की वार्षिक बैठक (सभा) संपन्न*



काव्यसृजन परिवार के सभी पदाधिकारियों की बैठक कल दिनांक 21 मार्च 2021 को संस्था के मार्गदर्शक परम आदरणीय डॉ रामनाथ राना जी की क्लीनिक ,घाटकोपर में संपन्न हुई। बैठक में निम्नलिखित मुद्दों पर और संस्था के विकास व संवर्धन के लिए विस्तृत रूप से चर्चा हुई।और पदाधिकारियों का चयन भी किया गया|जिसमें अधिकांशतः पुनरावृत्ति हुई है|अध्यक्ष पद पर पं.शिवप्रकाश जौनपुरी,उपाध्यक्ष पद पर क्रमशः पं.श्रीधर मिश्र व जिलाजीत यादव,कार्याध्यक्ष प्रा.अंजनी कुमार "रसिक" सचिव पद पर शिक्षक लालबहादुर यादव कमल,उप सचिव पद पर अवधेश यदुवंशी,कोषाध्यक्ष पद पर बीरेन्द्र कुमार यादव,उप कोषाध्यक्ष पद पर सौरभ दत्ता जयंत,और प्रवक्ता पद पर आनंद पाण्डेय केवल जी का सर्व सम्मति से चयन किया गया|यह पूरी प्रक्रिया त्रिदेवो में से एक आ.डॉ रामनाथ राना जी के मार्गदर्शन व पं.शिवप्रकाश जौनपुरी जी की अध्यक्षता में सम्मपन्न हुई|अनुपस्थित पदाधिकारी इस प्रक्रिया में आनलाईन गूगल मीट द्वारा उफस्थित रहे|संस्था की बैठक में आदरणीय डॉ रामनाथ राना जी, आदरणीय शिवप्रकाश जौनपुरी जी, आदरणीय श्रीधर मिश्रा जी, आदरणीय जिलाजीत यादव जी, आदरणीय जयंत दत्ता जी व अंजनी कुमार द्विवेदी जी मौजूद रहे। 

1) कोरोना के बढ़ते प्रभाव के कारण इस बार का होली स्नेह मिलन सम्मेलन व वार्षिकोत्सव अगली सूचना तक आगे बढ़ाया जाता है। 

2) काव्य सृजन द्वारा प्रायोजित होली विशेष  संयुक्त काव्यसंग्रह का विमोचन भी अग्रिम सूचना तक आगे बढ़ाया गया है। जिंदगी बहुत कीमती है। सरकार के नियमों का पालन करना व अनुशासन बनाए रखना एक साहित्यिक संस्था का फर्ज ही नहीं अपितु धर्म भी है। 

3) संस्था अपने पदाधिकारियों का एकल काव्यसंग्रह भी अपने बैनर तले प्रकाशित करेगी ,यह प्रकाशन शायद साल में दो बार सम्भव हो पाए। इस पर अभी और विस्तृत चर्चा होनी बाकी है। 

4) संस्था के सभी पदाधिकारी संस्था के विकास के लिए मिल-जुलकर काम करेंगे व संस्था के प्रति समर्पित रहेंगे। 

5) संस्था का पंजीकरण प्रक्रिया में है मतलब प्रोसेस चल रहा है। बहुत जल्द ही हमारी संस्था पंजीकृत हो जाएगी। इसके लिए सुझाए गए कागजात,पैसे व फ़ोटो आप सब अविलंब जमा कर दें।

6) संस्था को आर्थिक मजबूती प्रदान करने के लिए प्रत्येक पदाधिकारी हर महीने 200 रुपए का सहयोग करेंगे। हिसाब-किताब और इसका लेखा-जोखा बहुत अच्छे ढंग से हो इसके लिए भाई बीरेंद्र कुमार जी व जयंत दत्ता जी से विशेष सहयोग की अपेक्षा व निवेदन किया गया। 

7) संस्था अब अपने कार्यक्षेत्र को बढ़ाएगी जिसके लिए हम अब प्रकाशन में अधिकाधिक सक्रिय होंगे। इस मुद्दे पर भी विचार मंथन किया गया। 

कुछ पदाधिकारी अपनी निजी समस्याओं व व्यस्तताओं की वजह से नहीं पहुँच सके। हालांकि ग्रुप चर्चा के माध्यम से सबका विशिष्ट सहयोग मिलते रहता है। 

अंत में संस्था के उपाध्यक्ष श्री श्रीधर मिश्रा के संचालन में एक संक्षिप्त स्नेहिल गोष्ठी भी संपन्न हुई जिसमें लगभग सभी पदाधिकारियों ने अपनी-अपनी समसामयिक रचनाएँ सुनाईं। अंत में संचालक श्री श्रीधर मिश्रा जी ने सभी पदाधिकारियों व सहयोगियों का हृदय से धन्यवाद ज्ञापित किया। 

बैठक की शुरुआत में व अंत में भी परम आदरणीय डॉ रामनाथ राना जी के विशेष सहयोग से  सभी पदाधिकारियों के लिए जलपान की उत्तम व्यवस्था की गई। सभी ने इस बैठक का खूब आनन्द व लुत्फ़ उठाया। इस प्रकार से पदाधिकारियों के स्नेहिल मिलन,चर्चा, काव्य गोष्ठी सह काव्यसृजन की एक यादगार बैठक संपन्न हुई। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad