संदिग्ध आरोपित सचिन वझे की 'फॉरेंसिक पोडिएट्री' करा सकती है एनआइए - Ideal India News

Post Top Ad

संदिग्ध आरोपित सचिन वझे की 'फॉरेंसिक पोडिएट्री' करा सकती है एनआइए

Share This
#IIN


Mayank Jha and Anil Gupta

 मुंबई

 मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटक लदी गाड़ी मिलने के मामले की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) इस मामले के संदिग्ध आरोपित एपीआइ सचिन वझे की 'फॉरेंसिक पोडिएट्री' जांच कर सकती है। उल्लेखनीय है 25 फरवरी को तड़के इनोवा गाड़ी से उतर कर पीपीई किट पहने एक व्यक्ति को विस्फोटक लदी स्कार्पियो के पास जाते देखा गया था। इसकी रिकार्डिग जांच एजेंसी के पास मौजूद है। समझा जाता है पीपीई किट पहने व्यक्ति एपीआइ सचिन वझे है। लेकिन उसका चेहरा स्पष्ट नहीं है। 

इस संबंध में मुंबई के प्रतिष्ठित केईएम अस्पताल की फारेंसिक विशेषज्ञ डा.हेमलता पांडे ने बताया कि फारेंसिक पोडिएट्री में संदिग्ध अपराधी के फोटो या सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उसके चलने के तरीके का अध्ययन कर निष्कर्ष निकाला जाता है। उन्होंने बताया कि फुटेज में अपराधी के चलने के ढंग से हम उन लोगों के पैर की नाप, लंबाई और अन्य शारीरिक बनावट को बारीकी से देखते परखते हैं, जिन पर शक होता है। हम दोनों स्थितियों के पैटर्न का मिलान कर ही कोई निष्कर्ष निकालते हैं। फारेंसिक पोडिएट्री विधा ब्रिटेन सहित कई देशों में व्यापक रूप से का इस्तेमाल की जा रहा है। इन देशों में शातिर अपराधी पुलिस को चकमा देने के लिए चेहरा छुपाकर और चाल बदल कर वारदात को अंजाम देते हैं। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad