दांत-मुंह की सफाई न रखने से हो सकती हैं ये खतरनाक बीमारियां - Ideal India News

Post Top Ad

दांत-मुंह की सफाई न रखने से हो सकती हैं ये खतरनाक बीमारियां

Share This
#IIN




DR. RJ GUPTA

बात करें दांतों में होने वाली बीमारियों की, तो सोचने वाली बात ये है कि दांतों को नुकसान क्यों पहुंचता है। इस बात को समझने से पहले ये जानना जरूरी है कि दांत होते क्या हैं। दांत, हड्डी के नहीं बने होते, बल्कि ये अलग-अलग घनत्व व कठोर ऊतकों या टिशुओं से बने होते हैं। आजकल तरह-तरह के खाद्य पदार्थों में मिलावट के चलते बड़े पैमाने पर लोगों में दांतों की बीमारियां देखने को मिल रही हैं। आइए जानते हैं, दांत की कुछ ऐसी ही बीमारियों के बारे में...

1. हैलिटोसिस

हैलिटोसिस को आमतौर पर मुंह की दुर्गंध के रूप में जाना जाता है। मुंह से दुर्गंध आना सबसे शर्मनाक दांत की समस्याओं में से एक है। यह सामाजिक शर्मिंदगी का कारण बन सकता है। हैलिटोसिस के कारण दंतों को नुकसान भी पहुंचा सकता है।

2. पायरिया

पायरिया शरीर में कैल्शियम की कमी होने, मसूड़ों की खराबी और दांत-मुंह की सफाई में कमी रखने से होता है। इस रोग में मसूडे पिलपिले और खराब हो जाते हैं और उनसे खून आता है। सांसों की बदबू की वजह भी पायरिया को ही माना जाता है। सांसों से बदबू आने लगती है। दांत ढीले हो जाते हैं या दांतों की स्थिति में परिवर्तन हो जाता है। खाना चबाने से दर्द महसूस होता है।

3. कैविटी

इसमें दांतों में कीड़े लग जाते हैं, जो धीरे-धीरे दांत को कमजोर कर देते हैं। ये बीमारियां विशेष तौर पर तब होती हैं, जब खाना दांतों पर चिपका रह जाता है। बहुत ज्यादा चॉकलेट, टॉफी को खाने वाले बच्चों में ये बीमारी ज्यादा पाई जाती है। इस बीमारी में दांत कमजोर हो जाते हैं और टूट कर गिर भी जाते हैं।

4. हाइपोडंटिया

दांतों की वह असामान्यता है जिसमें 6 या 6 से अधिक प्राथमिक दांत, स्थिर दांत या फिर दोनों प्रकार के ही दांत विकसित नहीं हो पाते हैं। यह एक अनुवांशिक रोग है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad