काशी विश्‍वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना के बाद गंगा आरती में शामिल हुए महामहिम - Ideal India News

Post Top Ad

काशी विश्‍वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना के बाद गंगा आरती में शामिल हुए महामहिम

Share This
#IIN

डा यू एस भगत वाराणसी
काशी विश्‍वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना के बाद गंगा आरती में शामिल हुए महामहिम 





वाराणसी । राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविन्‍द अपने तीन दिवसीय वाराणसी दौरे पर शनिवार को वाराणसी पहुंचे। राष्‍ट्रपति वाराणसी में श्रीकाशी विश्‍वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना करने पहुंचे।। इसके बाद दशाश्‍वमेध घाट पर गंगा आरती में भी शामिल हुए। तीन दिनी प्रवास के अंतिम दिन सोमवार को वह जागरण के फोरम का उद्घाटन भी करेंगे। वहीं इससे पूर्व वह सोनभद्र और मीरजापुर में आयोजित कार्यक्रमों में भी हिस्‍सा लेंगे।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्‍द ने बनारस के ऐतिहासिक एवं पौराणिक दशाश्वमेध घाट पर सपत्नी, बेटी के साथ गंगा आरती का दृश्यवलोकन किया। गंगा आरती 9 ब्राह्मणों द्वारा 18 रिद्धि-सिद्धि बालिकाओं के साथ संपन्न किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित अन्य लोग उपस्थित रहे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्‍द को मुख्यमंत्री ने स्मृतिचिह्न भेंट किया। राष्ट्रपति सपरिवार गंगा सेवानिधि के कार्यालय पहुंचकर आर्ट गैलरी का अवलोकर भी किया। इस मौके पर उनकों स्मृति चिह्न दिया गया। करीब एक घंटे से ज्यादा वक्त तक राष्ट्रपति दशाश्वमेध घाट पर होने वाली गंगा सेवा निधि की नियमित गंगा आरती में शामिल हुए। पत्नी व बेटी के साथ राष्ट्रपति की मौजूदगी बेहद खास रही क्योंकि उनके साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे। विशेष गंगा आरती देखने के लिए राष्ट्रपति पूरे भक्ति भाव में लीन दिखाई दिए और गंगा आरती का भी स्वरूप बदला सा नजर आया 
नियमित 7 की जगह 9 और अर्चकों और रिद्धि सिद्धि के रूप में 18 कन्याओं की मौजूदगी में भव्य गंगा आरती संपन्न हुई इसके पहले उन्होंने बाबा विश्वनाथ में दर्शन पूजन भी किया गंगा आरती कराने वाली संस्था गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्र ने इस मौके पर उन्हें स्मृति चिन्ह और अंगवस्त्रम प्रदान किया राष्ट्रपति ने भी गंगा आरती की तारीफ की और हर किसी का धन्यवाद दिया। इस मौके पर संस्था के पदाधिकारियों से भी राष्ट्रपति की मुलाकात हुई और सभी ने राष्ट्रपति को इस अद्भुत कार्यक्रम में आने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया मुख्य रूप से गंगा सेवा निधि के पदाधिकारी ट्रस्टी  श्याम लाल सिंह कोषा अध्यक्ष आशीष तिवारी, सुजीत सिंह, सचिव इंदु शेखर शर्मा, प्रोफेसर चंद्रमौली उपाध्याय, ट्रस्ट के सचिव हनुमान यादव समेत अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे। इससे पूर्व राष्ट्रपति ने श्रीकाशी विश्‍वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन और अ‍भिषेक किया। राष्ट्रपति के साथ उनकी धर्मपत्नी सविता कोविन्‍द व बेटी ने पहले शिखर को देख कर हाथ जोड़ नमन किया और गर्भ गृह में उत्तर मुखी होकर बैठे बाबा को प्रणाम कर स्थान पर बैठे सभी हाथ जोड़े हुऐ पूजन शुरू किए। मंदिर के अर्चक श्रीकांत मिश्र के आचरत्व में चांदी के थाल में पूजन सामग्री के साथ पांच पंडितों द्वारा षोडशोपचार पूजन चालू हुआ। राष्ट्रपति ने पत्नी संग देश की सुख समृद्धि का संकल्प लिया और 6.10 पर गर्भ गृह से बाहर आए। इस दौरान बन रहे विश्वनाथ धाम को भी देखा। मुख्यमंत्री योगी ने राष्ट्रपति को नक्‍शा के माध्यम से विश्वनाथ धाम को दिखाया और  जानकारी दी जाते समय मुख्यमंत्री ने महामहिम को अंग वस्त्र, प्रसाद, स्मृतिचिन्ह भेट किया। राष्ट्रपति को लेकर भारतीय वायुसेना का विमान 2.40 बजे वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरा। इस दौरान मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल तथा अन्य अधिकारियों ने एयरपोर्ट के एप्रन पर राष्ट्रपति की अगवानी की। राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द का बरेका के हेलीपैड पर 3 बजकर 15 मिनट पर हेलीकॉप्टर उतरा। साथ में दो पायलट हेलिकॉप्टर भी उतरा। हेलीकॉप्टर से सबसे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उतरे उसके बाद उनके सुरक्षा में साथ चल रहे सुरक्षाकर्मी उतरे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad