आईपीएल के आयोजन स्थल को लेकर फ्रेंचाइजियों ने जताई नाराजगी - Ideal India News

Post Top Ad

आईपीएल के आयोजन स्थल को लेकर फ्रेंचाइजियों ने जताई नाराजगी

Share This
#IIN




आईपीएल 2021 के लिए बीसीसीआई ने अभी तक शेड्यूल जारी नहीं किया है. कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा है कि अप्रैल के दूसरे सप्ताह से टूर्नामेंट का आयोजन हो सकता है. इतना ही नहीं बीसीसीआई ने अभी तक यह भी तय नहीं किया है कि इस साल आईपीएल के मुकाबलों का आयोजन किन मैदान पर होगा. हालांकि, 6 नाम सामने आए हैं. दावा है कि मुंबई, कोलकाता, अहमदाबाद, चेन्नई, दिल्ली और बैंगलोर में मैच का आयोजन हो सकता है. यह सिर्फ प्राथमिक रिपोर्ट हैं और इस मामले को लेकर अभी कुछ स्पष्ट नहीं है. लेकिन अब खबर है कि बोर्ड के इस फैसले से कुछ फ्रेंचाइजी खुश नहीं हैं और उन्होंने इसको लेकर और जानकारी मांगी है.

खबरों की मानें तो राजस्थान रॉयल्स, पंजाब किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद ने बीसीसीआई द्वारा आईपीएल के 6 आयोजन स्थलों के फैसले को लेकर आपत्ती जताई है. इस मामले में तीनों फ्रेंचाइजी ने बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हेमांग अमीन के सामने अपनी आपत्ति दर्ज कराई है.

 जिन फ्रेंचाइजियों ने आपत्ती दर्ज करवाई हैं उसके एक अधिकारी ने कहा,"इस फैसले से हम तीन टीमें बुरी तरह प्रभावित होंगी, जो टीमें घरेलू मैदानों पर अच्छा खेलती हैं, वे पूरे लीग में अच्छा करती हैं, क्योंकि घरेलू मैदानों पर पांच या छह जीत टीम को प्ले-ऑफ में ले जाएंगी. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, चेन्नई सुपर किंग्स, कोलकाता नाइट राइडर्स, दिल्ली कैपिटल्स और मुंबई इंडियंस को घरेलू फायदा होगा और हम तीन टीमों को घर से दूर खेलना होगा."

दरअसल, टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट की मानें तो बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बताया कि इस साल आईपीएल के फार्मेट में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं हुआ है. होम और अवे मैच होंगे. यानि हर साल की तरह सभी टीमें सात मुकाबले अपने घरेलू मैदान पर खेलेंगी और सात मुकाबले घर के बाहर.

बीसीसीआई के सामने नाराजगी जाहिर करने वाले फ्रेंचाइजियों का तर्क है कि घरेलू मैदानों से बाहर क्रिकेट मैच होने के कारण न केवल टीमें के प्रदर्शन पर भी प्रभाव पड़ता है, बल्कि फ्रेंचाइजियों को कई तरह की व्यावसायिक समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है. खबरों के अनुसार, बोर्ड फ्रेंचाइजियों को समझाने की कोशिश कर रहा है और जल्द ही मामले का हल निकल सकता है.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad