*निर्माण कार्य में खामियां देख भड़के नोडल अधिकारी* - Ideal India News

Post Top Ad

*निर्माण कार्य में खामियां देख भड़के नोडल अधिकारी*

Share This
#IIN

मारकन्डेय तिवारी
*निर्माण कार्य में खामियां देख भड़के नोडल अधिकारी*


*जौनपुर।  सचिव, चिकित्सा शिक्षा विभाग उत्तर प्रदेश शासन/नोडल अधिकारी जनपद जौनपुर जी0एस0 प्रियदर्शी द्वारा अग्निशमन केंद्र में निर्माणाधीन आवासीय परिसरों तथा कार्यालय, अग्निशमन केंद्र अधिकारी का निरीक्षण किया गया।* 

 निरीक्षण के दौरान नोडल अधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि आवासीय परिसर की स्वीकृति 2015 में हुई थी जिसकी पहली किस्त आने के बाद दूसरी किस्त आने में विलंब हुआ इसके पश्चात तीसरी किस्त आने के बाद चौथी किस्त आने में एक वर्ष का समय क्यों लगा इसकी जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। आवासीय परिसर में बने बाथरूम की छत सही न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए नोडल अधिकारी ने छत की फिनिशिंग कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आवासीय परिसर जैसे-जैसे पूर्ण होते जाएं उनके हैंड ओवर की प्रक्रिया भी पूर्ण की जाए। आवासीय परिसर में रहने वालों द्वारा भी फीडबैक लिया जाए कि परिसर में कोई कमी तो नहीं है। फायर ब्रिगेड कर्मचारियों तथा अधिकारियों के लिए यूपीपीसीएल द्वारा आवासीय भवनों का निर्माण किया जा रहा है, जिसमें टाइप 4 के एक, टाइप 3 के 3, टाइप 2 के सात, टाइप स्पेशल के 21 तथा साधारण टाइप के 3 आवासीय भवन बनाए जा रहे हैं। नोडल अधिकारी द्वारा कार्यालय, अग्निशमन अधिकारी का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने स्टोर रूम, वॉचरूम तथा बैरक का निरीक्षण किया। स्टोर रूम के निरीक्षण के दौरान नोडल अधिकारी ने निर्देश दिया कि स्टोर रूम में आग बुझाने वाले उपकरण ही रखे जाएं। उपकरणों को रखने के लिए अच्छी व्यवस्था की जाए तथा स्टॉक रजिस्टर मेंटेन किया जाए। उन्होंने फायर ब्रिगेड की गाड़ियों, स्टाफ कर्मचारियों के विषय में जानकारी प्राप्त की। सीएफओ अखिलेश प्रताप सिंह ने बताया कि कार्यालय में ड्राइवर तथा फायरमैन की कमी है। नोडल अधिकारी ने निर्देश दिया कि आरटीओ द्वारा फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों को ड्राइविंग का प्रशिक्षण दिया जाए। उन्होंने कहा कि उपकरणों की समय-समय पर जांच की जाए कि वह ठीक से कार्य कर रहे हैं कि नहीं। बैरक में खिड़की के शीशे टूटे होने पर नोडल अधिकारी ने नए शीशे लगवाने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला, अवर अभियंता यूपीपीसीएल विनय कुमार वर्मा, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी राधाकृष्ण, अर्थ एवं संख्या अधिकारी आईडी यादव उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad