जुडवां बच्चों के मरने से हड़कंप मच गया - Ideal India News

Post Top Ad

जुडवां बच्चों के मरने से हड़कंप मच गया

Share This
#IIN
Ram bhavan Prajapati Azamgarh
*आजमगढ़। मुबारकपुर थाना क्षेत्र के काशीपुर गांव में शनिवार को जुड़वां बच्चों के मरने से हड़कंप मच गया*   


    
*रिपोर्टर राम भवन यादव* ।







 परिजनों के अनुसार रात में एक बजे पैकेट का दूध पिलाया गया था। मौके पर पंहुचे चिकित्सकों ने फूड पॉयज़निंग या दम घुटने से बच्चों के मरने का अंदेशा व्यक्त किया है। ग्रामीण जांच की मांग को लेकर घंटों कब्रिस्तान पर शवों को लेकर जमे थे। काशीपुर निवासिनी मधुबाला पत्नी दिवाकर राम को दो माह पूर्व निजी अस्पताल में जुड़वां बच्चे पैदा हुए। परिजनों के अनुसार जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ थे। रात करीब एक बजे पीड़ित माँ मधुबाला ने दोनों बच्चों को आंगनबाड़ी से मिले पैकेट के दूध का घोल बनाकर पिलाया और सो गई। शनिवार की सुबह चार बजे उसने दोनों बच्चों मृत पाया। चिखने-चिल्लाने पर आस-पास के लोग पंहुचे। घटना की जानकारी होने के बाद नि. ग्राम प्रधान कमला देवी, आशा बहू, आंगनबाड़ी कार्यकत्री सभी मौके पर पंहुचे और लगभग 30 लाभार्थी परिवारों में वितरित किये गए दूध को प्रयोग करने से मना किया। ग्रामीणों की सूचना पर उच्चीकृत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सठियांव के प्रभारी ब्रजेश कुमार, डा. प्रशांत कुमार राय, अलीम अख्तर ने मौके का मुआइना कर बताया कि मूल कारण पोस्टमार्टम के बाद पता चलेगा, वैसे प्रथम दृष्टया बच्चों की मौत का कारण दम घुटने या फूड पॉयज़निंग हो सकता है। कब्रिस्तान पर गांव के लोग उपस्थित थे और जांच के बाद दफनाने की बात कर रहे थे। शनिवार को काशीपुर गांव में जुड़वां बच्चों की शव दफन करने के बाद अपराहन तीन बजे मधुबाला के घर पंहुची स्थानीय पुलिस, कानूनगो, लेखपाल कैलाश यादव, पुलिस शवों का पोस्टमार्टम करने की बात पर मृतक बच्चों के बाबा महेंद्र वकील ने कहा कि दूध की जांच आने के बाद ही पीएम होगा। दूध का सैम्पल जांच के लिए गया है। पुलिस और ग्रामीण मौके पर तैनात एहतियात के लिए गांव में फोर्स तैनात हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad