शर्मनाक करतूत करने वाले चारों लेखपाल आज जाएंगे सलाखों के पीछे - Ideal India News

Post Top Ad

शर्मनाक करतूत करने वाले चारों लेखपाल आज जाएंगे सलाखों के पीछे

Share This
#IIN



Atpee Mishra

प्रयागराज
 यूपी के कौशांबी जिले के चायल तहसील में कार्यरत चार लेखपालों की शर्मनाक करतूत ने राजस्व विभाग को शर्मिंदा कर दिया है। अब उनके खिलाफ जो आरोप लगे हैं, उस पर सभी को हैरानी हो रही है।  हैरत की बात यह है कि एक गरीब व्यक्ति के साथ उन्होंने जो व्यवहार किया, उसे शायद ही सभ्य समाज माफ कर सके।

कार में मामूली टक्कर लगने के बाद लग्जरी कार में सवार चारों लेखपालों ने दिनदहाड़े ई-रिक्शा चालक सालिम का अपहरण कर कार में बैठा लिया। इसके बाद पिटाई करते हुए अपने कार्यक्षेत्र कौशांबी के पूरामुफ्ती तक उठा ले गए। इतना ही नहीं, जब पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो वे नहीं रुके। फिलहाल चारों पुलिस की गिरफ्त में हैं और आज उन्हें कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेजने की तैयारी है। आरोपित मनीष यादव, महेश मिश्रा, कमला शंकर सिंह और नवीन सोनकर कौशांबी के चायल तहसील में लेखपाल पद पर कार्यरत हैं।

करेली के गौस नगर मोहल्ले में रहने वाले नफीस अहमद का बेटा सालिम ई-रिक्शा चलाता है। शुक्रवार दोपहर वह अपना ई-रिक्शा लेकर जार्जटाउन थाना क्षेत्र के लाउदर रोड स्थित एक अस्पताल के पास पहुंचा। इसी दौरान ई-रिक्शा एक ब्रेजा कार से टकरा गया। आरोप है कि टक्कर लगने पर कार सवार युवक नीचे उतर आए और फिर गाली-गलौज करते हुए जबरन उसे कार में बैठाकर भाग निकले।
सूचना पर जार्जटाउन, कर्नलगंज, धूमनगंज और क्राइम ब्रांच की टीम को कार पकडऩे के लिए लगा दिया गया। कौशांबी पुलिस को खबर करते हुए पूरामुफ्ती इलाके में घेरेबंदी कर दी गई। कुछ देर बाद कार वहां पहुंची तो घेरकर आरोपितों को पकड़ने के बाद बंधक ई-रिक्शा चालक को छुड़ा लिया गया। पूछताछ में पता चला कि आरोपित लेखपाल हैं तो पुलिस भी सकते में पड़ गई। घटना के कुछ घंटे बाद थाने पहुंचे सालिम के भाई बब्बू ने तहरीर दी, जिसके आधार पर सभी के खिलाफ अपहरण का मुकदमा लिखा गया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad