*मुंगराबादशाहपुर:हिन्दू बालिका इण्टर कालेज की मान्यता पर लटक रही तलवार ,बिना रजिस्ट्रेशन की संस्था कर रही कालेज का संचालन -* - Ideal India News

Post Top Ad

*मुंगराबादशाहपुर:हिन्दू बालिका इण्टर कालेज की मान्यता पर लटक रही तलवार ,बिना रजिस्ट्रेशन की संस्था कर रही कालेज का संचालन -*

Share This
#IIN


Arun dubey 
मुंगराबादशाहपुर (जौनपुर) 
 मुंगराबादशाहपुर बिकास खण्ड के सरायरूस्तम गांव में संचालित हो रहे एक इण्टर कालेज का संचालन बिना रजिस्ट्रेशन कराए ही संस्था द्वारा संचालित किए जाने का मामला प्रकाश में आया है । जिसके कारण कालेज की मान्यता पर  तलवार लटकने लगी है । यह पढ़ने सुनने में भले ही अटपटा सा लगता हो लेकिन हकीकत यही है । कारण की संस्थाओं का पंजीकरण करने वाली सरकारी संस्था सहायक निबंधक फर्म्स सोसायटी एवं चिट्स ने जनसूचना अधिकार के तहत मांगी गई सूचना में इसका खुलासा कर दिया है । मिली जानकारी के अनुसार उक्त गांव में संचालित हिन्दू बालिका इण्टर कालेज का संचालन बालिका शिक्षण संस्थान द्वारा किया जाता है । बताया जाता है कि पहले इस कालेज का संचालन हिन्दू हाईस्कूल सोसायटी द्वारा किया जाता था । कालांतर में तत्कालीन सोसायटी के सचिव/ प्रबन्धक जय राम त्रिपाठी ने बालिका शिक्षण संस्थान का गठन कर बालिका हिंदू इण्टर कालेज का संचालन उसके हाथ सौंप दिया । जो हिन्दू बालिका इण्टर कालेज का संचालन करने लगी । हिंदू हाईस्कूल सोसायटी के आजीवन सदस्य एवं संस्थापक स्व० यमुना प्रसाद गुप्त के पौत्र बृजेश कुमार गुप्त ने सहायक निबंधक फर्म्स सोसायटीज एवं चिट्स वाराणसी से जन सूचना अधिकार अधिनियम के तहत हिन्दू बालिका इण्टर कालेज का संचालन करनें वाली हिंदू बालिका शिक्षण संस्थान की पंजीकरण संख्या की जानकारी मांगी । जिसके उत्तर में सहायक निबंधक फर्म्स सोसायटीज एवं चिट्स वाराणसी ने अपने पत्रांक 2671 /आई 798 / सूचना 2020 -21 में बताया की इस कार्यालय में हिंदू बालिका शिक्षण संस्थान नाम से कोई संस्था पंजीकृत नहीं है । अब सवाल यह उठता है कि जब कालेज का संचालन करने वाली संस्था ही पंजीकृत नहीं है तो उसके द्वारा संचालित इण्टर कालेज को मान्यता कैसे हासिल हो गई । जानकारों का मानना है की  संस्था जब तक पंजीकृत नहीं होती तब तक वह किसी विद्यालय / कालेज का संचालन नहीं कर सकती । ऐसी स्थिति में कालेज की मान्यता रद्द की जा सकती है ।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad