*जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई* - Ideal India News

Post Top Ad

*जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई*

Share This
#IIN


Anju Pathak and Avdhesh Mishra

बैठक में विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सभी सरकारी विभाग अपने बकाया विद्युत बिल जमा करायें। उन्होंने बेसिक शिक्षा अधिकारी से ऐसे विद्यालयों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए जिनके ऊपर से विद्युत के तार गए हो। जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिया कि बड़े विद्युत बकायेदारों का विद्युत कनेक्शन काटकर उनको आरसी जारी कर वसूली करें, यदि कोई बकायेदार बिना विद्युत बिल जमा कराये दोबारा अवैध रूप से विद्युत कनेक्शन कराकर बिजली का उपभोग कर रहा है तो उसके खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज करायें। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 वीरेंद्र सिंह को निर्देश दिया कि सभी अस्थाई गौ संरक्षण केंद्रों पर विद्युत कनेक्शन लेना सुनिश्चित कराएं। पशुपालन विभाग की समीक्षा करते हुए मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि निराश्रित पशुओं को पकड़ने के लिए नया रोस्टर जारी किया जाए और रोस्टर के अनुसार निराश्रित पशुओं को पकड़ना सुनिश्चित कराया जाए। पशु टीकाकरण के कार्य की समीक्षा करते हुए अच्छे कार्य न करने वाले पशु चिकित्सा अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही सुनिश्चित करने का निर्देश मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को दिया। पशुपालकों के किसान क्रेडिट कार्ड बनाए जाने के लक्ष्य को पूर्ण करने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। प्रधानमंत्री आवास (शहरी) की समीक्षा के दौरान पीओ डूडा ने बताया कि 8222 लाभार्थियों को द्वितीय किस्त दी जा चुकी है, लगभग 5600 आवास पूर्ण हो चुके हैं। जिलाधिकारी ने स्वनिधि योजना के अंतर्गत लक्ष्य पूर्ण करने के निर्देश देते हुए कहा कि योजना के तहत ऋण हेतु जो भी आवेदन प्राप्त हो रहे हैं
 उन्हें शीघ्र स्वीकृत कर लाभार्थियों को ऋण वितरित करें। जिलाधिकारी ने एलडीएम को निर्देश दिया कि स्वनिधि योजना के तहत जिन लाभार्थियों के ऋण स्वीकृत हो चुके हैं उन्हें कैंप लगाकर ऋण वितरित करें।

जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि जनपद में बनाए गए सामुदायिक शौचालय की गुणवत्ता की जांच कराएं। जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया कि सामुदायिक शौचालय का उपयोग सुनिश्चित कराएं, कोई भी खुले में शौच न करे, इसके लिए निगरानी समितियों को एक्टिवेट करते हुए प्रातः काल गांव में लोगों को खुले में शौच करने के लिए रोके तथा शौचालय प्रयोग करने के लिए लोगों को प्रेरित किया किया जाए। जिलाधिकारी द्वारा समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत को भी निर्देशित किया कि वह नगर क्षेत्र में खुले में शौच रोकने के लिए गाड़ियों पर लाउडस्पीकर लगाकर लोगों को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा जिन लाभार्थियों के घरों में व्यक्तिगत शौचालय बनवाए गए हैं उनका उपयोग करें, उपयोग न करने वाले लाभार्थियों को नोटिस जारी कर उन पर जुर्माना लगाएं। उन्होंने कहा कि सभी अधिशासी अधिकारी डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन कार्य नियमित रूप से करवाएं तथा फरवरी माह में कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों में जीपीएस सिस्टम अवश्य लगवाया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि नगर पंचायत के साथ-साथ जनपद में भी कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों की मानिटरिंग की जाए। सफाई कर्मियों की उपस्थिति हेतु एक एप तैयार करने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिए। उन्होंने कहा कि समस्त सफाई कर्मी की उपस्थिति एप के माध्यम से लगाई जाए।
 दुग्ध समितियों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने पराग कम्पनी के डेयरी सुपरवाइजर को निर्देश दिया कि सक्रिय समितियों को बढ़ाए जाने की कार्यवाही करें। श्रम विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने सहायक श्रमायुक्त कुलदीप सिंह को श्रम विभाग की समस्त योजनाओं की जानकारी न होने पर चेतावनी जारी करने का निर्देश दिया। उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं, ईट, भट्टो एवं मनरेगा के श्रमिकों का अभियान चलाकर पंजीकरण कराने का निर्देश दिया। उपजिलाधिकारियो को निर्देश दिया कि बंधुआ मजदुरो के मामलों का निस्तारण जल्द करे।बैठक में जिलाधिकारी द्वारा 50 लाख के ऊपर की निर्माण कार्य की समीक्षा की गयी। समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि समस्त निर्माण कार्य समय से पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि जिन कार्यों के लिए शासन से बजट प्राप्त होना है उसके लिए उनकी तरफ से शासन को पत्र प्रेषित किया जाए। उन्होंने निर्माणाधीन बदलापुर बस स्टेशन के कार्य में तेजी लाने तथा जिन कार्यदायी संस्थाओं द्वारा माइलस्टोन बनाए जाने थे उसमें जिन कार्यदायी संस्थाओं द्वारा माइलस्टोन बनाने में देरी की गयी है उन्हें नोटिस जारी करने की के निर्देश दिये। 
जिलाधिकारी द्वारा बैठक में निर्देश दिए कि समस्त प्रकार की पेंशन के लंबित

आवेदनों का निस्तारण शीघ्र कराएं। उन्होंने सिंचाई विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि नहरों की साफ-सफाई अच्छे ढंग से कराई जाए तथा नहरों में पानी टेल तक पहुंचे। जिलाधिकारी द्वारा कृषि विभाग, उद्यान विभाग, गन्ना विभाग तथा अन्य विभागों की समीक्षा की गई। 
                 इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी राजकुमार द्विवेदी, मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला, जिला विकास अधिकारी बी0बी0 सिंह, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी आरडी यादव सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad