*मंहगाई की मार झेल रहा सिलेंडर हुआ सरेंडर* - Ideal India News

Post Top Ad

*मंहगाई की मार झेल रहा सिलेंडर हुआ सरेंडर*

Share This
#IIN


Avdhesh Mishra
जौनपुर
 उज्जवला योजना आज अपनी बदनसीबी पर आंसू बहाती सिसकती और रोती नजर आती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के वादों इरादों की दुनिया में कदम से कदम सुर से सुर और ताल से ताल के बाद बेबसी और लाचारी ऊपर से महंगाई की मारी झेल रहे बेबस ,लाचार, गरीब, मजदूर, मजदूर ने उज्जवला योजना के रिफिलिंग का स्वयं अनूठा प्रयास कर डाला जो मान सम्मान की रक्षा करते हुए रिश्तेदारों को घर में सिलेंडर होने की बात तो बताएगा लेकिन वही गोबर और लकड़ी के ईधन से खाना पकाएगा। जुगत और जुगाड़ में माहिर देश में आवश्यकता आविष्कार की जननी होती है जैसी कहावत उस विषम परिस्थिति में पूरी होती नजर आई जब गैस की दोगुनी कीमत देकर उपभोक्ताओं को सब्सिडी के नाम पर खाते में पैसा दिया जाता था धीरे धीरे प्रधानमंत्री जी के आवाहन पर स्वेच्छा से लोग सब्सिडी का त्याग करते रहे तथा बेबसी में त्याग ना कर पाने वाले के लिए सब्सिडी घटकर चंद रुपयों तक जा पहुंची इस विषम परिस्थिति में अब रीफिलिंग की कीमत ना चुका पाने वाले अत्यधिक गरीब ,मजदूर ,मजदूर उज्जवला योजना का लाभ लेने से पूरी तरीके से लाचार और मजबूर नजर आए तत्पश्चात सरकारी धन का दुरुपयोग करते हुए दिए गए सिलेंडर को ही गैस चूल्हा बनाने के लिए सरेंडर कर नई युक्त बनाते हुए पुरानी पद्धति से खानों का स्वाद चखने का नया कीर्तिमान स्थापित किया जो देश को गौरवान्वित करता नजर आएगा।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad