बेपटरी हुई इमरान खान की रेल, पांच महीनों में 17 अरब रुपए का हुआ नुकसान - Ideal India News

Post Top Ad

बेपटरी हुई इमरान खान की रेल, पांच महीनों में 17 अरब रुपए का हुआ नुकसान

Share This
#IIN




 पाकिस्‍तान और चीन की दोस्‍ती का दुष्‍प्रभाव अब प्रत्‍यक्ष तौर पर नजर आने लगा है। ऊर्जा क्षेत्र से लेकर अपने तमाम महत्‍वपूर्ण सेक्‍टरों को चीन की झोली में डालने के बाद इमरान खान की सरकार को अब पाकिस्‍तान रेलवे को ट्रैक पर बनाए रखने के लिए बुरी तरह संघर्ष करना पड़ रहा है। बीजिंग अब चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे यानी के तहत चल रही प्रमुख परियोजनाओं की फंडिंग से अपने हाथ खींच रहा है। बता दें कि चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा यानी सीपीईसी चीन की बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) की महत्‍वाकांक्षी परियोजना का अहम हिस्‍सा है।

आलम यह है कि पाकिस्‍तान की सरकार को रेलवे को चलाने के लिए भी अब हाथ फैलाने की नौबत आन पड़ी है। वहीं चीन पाकिस्‍तान को बिना गारंटी के कर्ज देने से अब बचने की कोशिशें कर रहा है। पाकिस्‍तानी अखबार 'द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून' की एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन की शी चिनफिंग की सरकार ने पाकिस्तान की कमजोर वित्तीय स्थिति के कारण मेन लाइन -1 (ML-1) परियोजना के लिए छह अरब डॉलर के कर्ज को मंजूर करने से पहले अतिरिक्त गारंटी की मांग की थी।

मालूम हो कि मेन लाइन -1 (ML-1) पाकिस्तान की पहली और सबसे बड़ी परिवहन क्षेत्र परियोजना है जिसे सीपीईसी के तहत चार पाकिस्तानी प्रांतों से होते हुए पेशावर से कराची तक जाना है। दिसंबर में आई 'द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून' की रिपोर्ट कहती है कि मेन लाइन -1 परियोजना को लेकर आशंकाओं के बादल मंडराने लगे हैं। वहीं पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का कहना है कि चिंता की बात नहीं है। यह परियोजना पाकिस्तान और चीन के संबंधों में एक नए अध्‍याय की शुरुआत करेगी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad