15 वर्षीय लड़की की गर्दन से सफलतापूर्वक 3.5 किलो का ट्यूमर निकाला - Ideal India News

Post Top Ad

15 वर्षीय लड़की की गर्दन से सफलतापूर्वक 3.5 किलो का ट्यूमर निकाला

Share This
#IIN




बेंगलुरु
 यहां के एक अस्पताल के डॉक्टरों ने एक 15 साल की लड़की की गर्दन से 3.5 किलो का खतरनाक ट्यूमर निकाला है। लड़की की गर्दन से उसकी छाती तक फैले हुए, इस ट्यूमर ने लड़की के जीवन को एक दशक से अधिक समय तक संकट में डाले रखा। सुरभि बेन को हुई इस खतरनाक बीमारी को डॉक्टरों द्वारा फाइब्रोमैटोसिस के रूप में पहचाना गया है। एस्टर सीएमआई अस्पताल में 21 डॉक्टरों की एक टीम ने उसके गर्दन पर फुटबॉल के आकार के ट्यूमर को हटाने के लिए सर्जरी की। मंगलवार को अस्पताल के बयान के अनुसार, वह अब अपने जीवन को सामान्य रूप से फिर से शुरू करने में सक्षम है।

गुजरात के अमरेली जिले में एक किसान के घर पैदा, सुरभि बेन तब छोटी थी, जब उसके माता-पिता ने पहली बार उसके चेहरे के आसपास की गांठों पर ध्यान दिया, जो तब से उसकी गर्दन को घेरते हुए अपना विस्तार करती गई। वर्षों से, उसके परिवार ने अमरेली जिले में और उसके आसपास कई डॉक्टरों से संपर्क किया था, जहां उनमें से कई ने सुझाव दिया था कि ट्यूमर को स्थानीय अस्पतालों में नहीं ठीक कराया जा सकता है और उसे मेट्रो शहरों में अस्पतालों का रुख करने की हिदायत दी।

अस्पताल के बयान में कहा गया है कि उपचार में सर्जरी और इंजेक्शन स्क्लेरोथैरेपी काफी महंगी थी। परिवार की मौजूदा आर्थिक स्थिति के कारण, वे इलाज का खर्च उठाने में असमर्थ थे और अपनी सारी उम्मीदों को एक ऐसे चमत्कार पर लगा दिया जो उनके बच्चे को एक नया जीवन दे सके।

अपनी दुर्दशा के बारे में बताते हुए, सुरभि ने कहा कि वह ट्यूमर के कारण कहीं भी जाने में असमर्थ थी और मेरे होमवर्क या असाइनमेंट करते समय उसकी गर्दन में अत्यधिक दर्द के कारण एक साल पहले उसे स्कूल से बाहर आना पड़ा।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad