भव वृद्धि से लेकर रोग मुक्ति तक में फायदेमंद है इलायची - Ideal India News

Post Top Ad

भव वृद्धि से लेकर रोग मुक्ति तक में फायदेमंद है इलायची

Share This
#IIN




भारतीय मसालों की विश्वपटल पर अपनी अलग पहचान है। इनमें इलायची का प्रयोग प्राचीनकाल से चला आ रहा है। चाहे वह पूजा-पाठ हो या कोई मिठाई बनाने का कार्य हो, सभी में इलायची का प्रयोग होता है। 

एक लौटा जल लेकर उसमें 2 बड़ी इलायची डालकर पानी के आधा होने तक उबालें। फिर इस पानी को अपने नहाने वाले पानी में मिला कर स्नान करें। स्नान करते वक्त पवित्रता का ध्यान रखें।

2. रोगों से मुक्ति के लिए

ॐ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी, दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा।।

इस मंत्र से इलायची को 108 बार अभिमंत्रित करें। फिर उसके जल से प्रतिदिन स्नान करें। इस उपाय से आपके सभी रोगों और शोकों का निवारण होगा।

3. दाम्पत्य सुख हेतु

अगर पति का पत्नी के प्रति आकर्षण कम हो गया हो, तो भगवान श्रीकृष्ण का स्मरण कर शुक्रवार के दिन तीन इलायची अपने बदन से स्पर्श करके पल्लू या रुमाल में बांध कर अपने पास ही रखें। शनिवार की सुबह वह इलायची पीस कर किसी भी व्यंजन में मिलाकर पति को खिला दें। ऐसा तीन शुक्रवार को करना है, तो लाभ मिल सकता है।

4. जल्द विवाह के लिए

यदि विवाह में विलंब हो रहा है तो यह प्रयोग शुक्ल पक्ष के प्रथम गुरुवार को किया जा सकता है। इस प्रयोग में मंदिर में गुरुवार की शाम को दो हरी इलाइची के साथ पांच प्रकार की मिठाई और शुद्ध घी के दीपक के साथ जल अर्पित करना चाहिए। यदि स्त्री हैं तो गुरुवार करें और पुरुष हैं तो शुक्रवार करें।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad