*हत्या/लूट करने वाले अन्र्तजनपदीय गिरोह का हुवा पर्दाफास* - Ideal India News

Post Top Ad

*हत्या/लूट करने वाले अन्र्तजनपदीय गिरोह का हुवा पर्दाफास*

Share This
#IIN





Santosh Agarhari and Vijay Agarwal     


1- सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता पुत्र स्व0 घुरहू यादव निवासी बम्भावन, थानागद्दी, थाना केराकत, जनपद जौनपुर।
2- सुरेश यादव पुत्र सियाराम यादव निवासी अतरौरा, थाना केराकत, जनपद जौनपुर।
3- सूरज यादव पुत्र छग्गन यादव निवासी उमरवार, थाना चन्दवक, जनपद जौनपुर।
4- वीरेन्द्र कुमार पाल पुत्र छोटेलाल पाल निवासी लक्षीपुर गोगवा, थाना जन्सा, जनपद 
 वाराणसी।
5- शिवपूजन पटेल पुत्र लालजी पटेल निवासी गोगवा, थाना जन्सा, जनपद वाराणसी। 

*बरामदगीः-*

1- 09एमएम पिस्टल-01अदद।
2- 09एमएम जिन्दा कारतूस-05अदद।
3- 09एमएम खोखा कारतूस-02अदद।
4- 315बोर तमंचा-01अदद।
5- 315बोर जिन्दा कारतूस-01अदद।
6- टाटा इण्डिगो कार-01अदद।
7- सुपर स्पलेण्डर मोटरसाइकिल-01अदद।
8- स्पलेण्डर मोटरसाइकिल-01अदद। 
9- मोबाइल फोन-06अदद
10- नगद-1500/-रूपये ।
11- कूटरचित परिचय पत्र-05अदद।

 जौनपुर काफी दिनों से उत्तर प्रदेश के जनपदों में वांछित पुरस्कार घोषित अपराधियों के सक्रिय होकर आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिये जाने की सूचनायें प्राप्त हो रहीं थी। इस सम्बन्ध में एस0टी0एफ0 की विभिन्न इकाईयों/टीमों को अभिसूचना संकलन एवं कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था, जिसके क्रम में एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई, वाराणसी की टीम द्वारा अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी।
अभिसूचना संकलन के दौरान आज दिनांक 01-01-2021 को एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई, वाराणसी को विश्वस्त सूत्रों के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई कि हत्या/लूट करने वाले अन्र्तजनपदीय गिरोह के रू0 25,000/- का पुरस्कार घोषित कुख्यात अपराधी सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता अपने गिरोह के साथ किसी घटना को अन्जाम देने के लिये पिण्डरा की तरफ आने वाला है। यदि शीघ्रता की जाये तो पूरा गिरोह पकड़ा जा सकता है। इस सूचना पर निरीक्षक अमित श्रीवास्तव के नेतृत्व में एस0टी0एफ0 टीम ने मुखबिर द्वारा बताये गये स्थान पर पहुंचकर पुलिस मुठभेड में अपराधी सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता को उसके 04 साथियों सहित गिरफ्तार कर लिया गया, जिनसे उपरोक्त बरामदगी हुई, जबकि मौके से दो अपराधी फरार हो गये। 
 गिरफ्तार अभियुक्त सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता ने पूछताछ के दौरान बताया कि वर्ष 2012 में अपने गाॅँव के ही रहने वाले हरि यादव के कहने पर मैंने थाना केराकत के ग्राम छितौनी के रहने वाले अच्छे लाल मौर्या की हत्या कर दी थी, जिसमें मैं गिरफ्तार होकर जेल चला गया। जमानत पर छूटने के बाद मैंने अपने साथियों के साथ मिलकर वर्ष 2016 में मुखबिरी करने का शक होने के कारण उदय विश्वकर्मा व राजू सेठ को वाराणसी से ले जाकर चन्दवक क्षेत्रान्तर्गत गोबरा गाॅंव में हत्या कर दिया था। इसके बाद केराकत थाना क्षेत्रान्तर्गत गोलाबाजार में सर्राफा व्यापारी से लूट किया था। उक्त दोनों मामलो मे गिरफ्तार होकर जेल चला गया। इसी दौरान मेरे गांव के पास के ही गांव बेहडा के रहने वाले आदर्श सिंह से मेरी दोस्ती हो गयी। आदर्श के गैंग में पहले से ही बहुत से लूट करने वाले अपराधी मौजूद थे, जिनसे हमलोगों ने अपना एक मजबूत गैंग बना लिये। हमलोगों ने हवाला का कारोबार करने वाले तथा समूह बनाकर पैसा के लेन-देन करने वालों के साथ कई लूट की घटनायें की, जिसका मुकदमा सामान्य तौर पर इस तरह के कारोबारी नही कराते हैं, जिसका फायदा उठाकर हमलोग लूट की घटनायें करते रहे। अपने गांव के पास मैंने एक लूट की घटना किया, जिसमें गिरफ्तार होकर वर्ष 2018 में जेल चला गया। जेल में ही मैंने व आदर्श सिंह ने बेहडा गांव के रहने वाले संजय सिंह की हत्या की योजना बनायी थी। आदर्श सिंह आपसी रंजिश के कारण संजय सिंह की हत्या कराना चाहता था। हमलोगों की योजना थी कि संजय सिंह की हत्या के बाद एक-दो बडी लूट करके पर्याप्त धन एकत्रित कर फरार हो जायेगें। हमलोगों अपनी पहचान छुपाने के लिये कूटरचित परिचय पत्र भी बनवा लिया था।
सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता ने पूछतांछ के दौरान यह भी बताया कि इस योजना के तहत आदर्श सिंह, गोरखपाल, सुरेश यादव, सूरज यादव तथा गोरखपाल के रिश्तेदार वीरेन्द्र कुमार पाल को साथ लेकर संजय सिंह बेहडा की रैकी करने निकले थे और मौका मिलते ही आज से लेकर कल तक हमलोग संजय सिंह बेहडा की हत्या कर देते। इसके बाद हमलोग जनपद आजमगढ के बूढनपुर के निकट कोयलसा बाजार में सर्राफा व्यवसायी के यहाॅं लूट करते और इसके बाद मुम्बई भाग जाते, परन्तु आज पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। 
 गिरफ्तार अभियुक्त सुभाष यादव ने पूछताछ में यह बताया कि आज हमलोगों के साथ आदर्श सिंह एवं गोरखपाल भी मौजूद था, जो मौके का फायदा उठाकर फरार हो गया। सुभाष यादव उर्फ धीरज उर्फ नेता जनपद जौनपुर के थाना चन्दवक पर पंजीकृत मु0अ0सं0 201/2019 धारा 392/411/120बी भादवि में फरार चल रहा था, जिसमें इसके ऊपर रू0 25,000/- का पुरस्कार घोषित था। इसके अतिरिक्त यह जनपद आजमगढ़ के थाना देवगांव पर पंजीकृत मु0अ0सं0 99/2020 धारा 392/411भादवि में भी वांछित चल रहा था।
उपरोक्त गिरफ्तार अभियुक्तगण के विरूद्ध थाना फूलपुर जनपद वाराणसी पर मु0अ0सं0 01/2021 धारा 307/34/419/420/467/468 भादवि व मु0अ0सं0 02/2021 व 03/2021 धारा 3/25 आम्र्स एक्ट का अभियोग पंजीकृत कर अग्रिम आवश्यक विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad