घर में सही जगह ना लगा हो आईना, तो तमाम समस्याओं को मिलता है न्यौता ! - Ideal India News

Post Top Ad

घर में सही जगह ना लगा हो आईना, तो तमाम समस्याओं को मिलता है न्यौता !

Share This
#IIN




घर में आइना लगाने से पहले सही दिशा का चुनाव करना बेहद जरूरी है. हमारी जिंदगी में आईना सजने-संवरने के लिए होता है. वास्तु शास्त्र के हिसाब से घर में किस दिशा में, किस आकार में रखा ये जरूरी माना जाता है.वास्तु के मुताबिक गोल की जगह आप अष्टकोनीय, यानी आठ कोनो वाल आईना लगा सकते हैं. नुकीले आकार का आईना लगाने से घर में नकारात्मकता आती है और परेशानी बनी रहती है.

घर की उत्तर-पूर्व दिशा में आईना लगाने का चुनाव करना चाहिए. इस दिशा में आईना लगाने से परेशानियां धीरे धीरे अपने आप दूर होती चली जाती है.वास्तु के मुताबिक बेडरूम में कभी आइना नहीं लगाना चाहिए. इससे कहा जाता है कि पति-पत्नी के बीच आपसी संबध खराब हो जाते हैं. अगर आपको सोते वक्त शीशा दिखें तो उसमें कोई कपड़ा डाल दें.

भोजनकक्ष की दीवार पर लगे बड़े-बड़े आइने ऊर्जा के अद्बुत स्त्रोत होते हैं. इसे बहुत शुभ माना जाता है. यदि भोजनकक्ष में ठीक डाइनिंग टेबल के सामने वड़ा सा आईना लगा हो तो उसमें खाने के दौरान देखने पर खाने के दोगुने होने का आभास होता है. कहा जाता है कि इससे भूख जिन्हे लगती है साथ ही घर के सदस्यों का स्वास्थ्य अच्छा रहता है साथ खुशी का संचार बढ़ता है.

इसके अलावा यदि आपका किचन पश्चिम मुखी है तो आप पीछे की तरफ, यानी पूर्व दिशा की दीवार पर एक गोल शीशा लगाएं. इससे आपके किचन में जो भी वास्तु दोष होता है जो लोग दूर हो जायेगा.यदि आपके घर के बाहर कोई बिजली का खंबा, ऊंची इमारत, अवांधित पेड़ और फिर धरती पर नुकीले उभार हैं तो आप घर मुख्य दरवाजे पर उनकी तरफ पाक्वा मिरर लगाकर निदान कर सकते हैं.


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad