प्लास्टिक के झंडे का बहिष्कार, एवं राष्ट्रीय झंडा को सुरक्षित स्थान पर रखने की अपील की गई - Ideal India News

Post Top Ad

प्लास्टिक के झंडे का बहिष्कार, एवं राष्ट्रीय झंडा को सुरक्षित स्थान पर रखने की अपील की गई

Share This
#IIN



Dr.U.S. Bhagat

22 जनवरी, पर्यावरण के लिए अभिशाप बने प्लास्टिक व पॉलिथीन के खिलाफ जन जागरूकता अभियान के तहत आगामी 26 जनवरी, गणतंत्र दिवस के पर्व को देखते हुए बच्चों वह आम जनमानस से प्लास्टिक के बने झंडे का इस्तेमाल न करने की अपील के साथ सामाजिक संस्था सुबह-ए- बनारस क्लब के बैनर तले संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल,क्लब के संरक्षक समाजसेवी (प्रमुख उद्यमी) श्री विजय कपूर कॉलेज की प्रधानाचार्या डॉ० प्रियंका तिवारी एवं समाज सेविका ज्योति झा के नेतृत्व में मैदागिन स्थित श्री हरिश्चंद्र बालिका इंटरमीडिएट कॉलेज के परिसर में सारे जहां से अच्छा हिंदुस्ता हमारा के नारों के साथ छात्राओ के बीच कागज के बने भारत की आन-बान-शान राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा झंडा बांटकर प्लास्टिक से बने झंडे का बहिष्कार करने की शपथ दिलाई गई। सभी छात्राओं से संस्था की ओर से पुरजोर ढंग से अपील की गई कि, वह न तो प्लास्टिक के बने झंडे का इस्तेमाल करेंगी, और न तो प्रचार प्रसार के माध्यम से किसी और को करने देंगी। उपरोक्त अवसर पर संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, क्लब के संरक्षक समाजसेवी (प्रमुख उद्यमी) श्री विजय कपूर,कालेज की प्रधानाचार्या डॉ० प्रियंका तिवारी एवं समाज सेविका ज्योति झा ने उद्बबोधन करते हुए कहा कि स्वतंत्रता दिवस एवं गणतंत्र दिवस पर कुछेक छात्रों एवं बच्चों द्वारा प्लास्टिक के बने झंडे का इस्तेमाल किया जाता है। आज हम लोग उसी प्लास्टिक से बने झंडे का बहिष्कार करने के साथ-साथ छात्राओं से कागज के बने झंडे का इस्तेमाल करते हुए इस महान पर्व को मनाने की अपील करने आए हैं। और छात्राओं के माध्यम से यह संदेश भी देने आए हैं, कि आप अगर बच्चों के हाथ में झंडा देना चाहते हैं, तो वह कागज का बना हो न कि प्लास्टिक का। ज्ञात हो कि बाजार में अब कागज का बना झंडा पर्याप्त रूप से आ चुका है। साथ ही साथ छात्राओं के माध्यम से यह अपील भी की गई कि सभी लोगों को इस बात पर भी गहराई से ध्यान देना होगा। कि राष्ट्रीय पर्व मनाने के बाद कोई भी शख्स हमारे आन-बान-शान तिरंगे को किसी भी ऐसे स्थान पर न फेंके जहां पर हमारे झंडे का अपमान हो। अक्सर देखा जाता है,कि झंडे का इस्तेमाल करने के बाद कुछ ना समझ लोग रास्ते पर सड़कों पर झंडे को फेंक देते हैं। जो कि न चाहते हुए भी लोगों के पैरों तले आ जाते हैं। ऐसे लोगों में विनती करते हुए जागरूकता लाना जरूरी है।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से:- अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, समाजसेवी विजय कपूर, प्रधानाचार्या डॉ० प्रियंका तिवारी, समाज सेविका ज्योति झा, कोषाध्यक्ष, नंदकुमार टोपी वाले, उपाध्यक्ष अनिल केसरी, सहित सैकड़ों छात्राएं शामिल थी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad