विश्वसनीयता की जंग में भाजपा ने मारी चौतरफा बाजी - Ideal India News

Post Top Ad

विश्वसनीयता की जंग में भाजपा ने मारी चौतरफा बाजी

Share This
#IIN




नई दिल्ली

 बिहार विधानसभा और कई दूसरे राज्यों के उपचुनावों की समीक्षा तो लंबी चलती रहेगी लेकिन यह स्पष्ट हो गया है कि विश्वसनीयता के मानक पर फिलहाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे के साथ भाजपा के मुकाबले फिलहाल कोई टिक नहीं पा रहा है। बिहार में भाजपा पहली बार नंबर वन बनकर उभरी तो मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, गुजरात,कर्नाटक ही नही तेलंगाना में भी भाजपा ने ही बाजी मारी और कांग्रेस कोसों पीछे छूट गई।

बिहार विधानसभा नतीजों के खास मायने हैं। दरअसल अब तक बैसाखी पर चलती रही भाजपा को यह संकेत मिल गया है कि उसके आगे खुला आसमान है। सहयोगी दलों को भी इसका अहसास हो गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विश्वसनीयता दुरुस्त है और चुनाव भले ही राज्य का हो, वोटर उनके चेहरे पर भी वोट करते हैं। ध्यान रहे कि प्रधानमंत्री ने बिहार में लगभग एक दर्जन रैली की थी। प्रधानमंत्री के साथ साथ केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तूफानी रैली की थी और यह भरोसा दिलाया था कि नीतीश कुमार के मुख्यमंत्रित्व में केंद्र सरकार बिहार के विकास को सुनिश्चित करेगी।

लेकिन बात केवल बिहार की नहीं है जहां मुकाबला सुशासन और जंगलराज के बीच चल रहा था। उत्तर प्रदेश में अगले डेढ़ साल में फिर से चुनाव है और ऐसे में सात में से छह सीटें जीतकर भाजपा ने यह जता दिया है कि सत्ताविरोधी लहर से लड़ना उसे आता है। यह जीत इसलिए भी अहम है क्योंकि जीत का अंतर भी बड़ा रहा। मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनाव था और मुख्यमंत्री शिवराज चौहान और उससे भी बढ़कर ज्योतिरादित्य सिंधिया की साख दांव पर थी। कांग्रेस की ओर से सरकार गिराने की घटना का हवाला देकर सहानुभूति लेने की कोशिश हुई लेकिन जनता ने नकार दिया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad