भीम राजभर को बसपा प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी - Ideal India News

Post Top Ad

भीम राजभर को बसपा प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी

Share This
#IIN



Girish Chandra Yadav

मऊ

जिले के कोपागंज ब्लाक के एक छोटे से गांव मुहम्मदपुर मुत्तलिका के निवासी भीम राजभर को बसपा सुप्रीमो पूर्व मुख्यमंत्री मायावती द्वारा ऐन दीपावली के दिन प्रदेश अध्यक्ष की बागडोर सौंपे जाने की खबर सिर्फ पार्टी कार्यकर्ताओं को ही नहीं, वरन जिले के सभी लोगों को रोमांचित कर गई। भीम को जो लोग बखूबी जानते हैं, उन्हें पता है कि भीम की लगन, मेहनत, समर्पण व निष्ठा ने उन्हें इस पद तक पहुंचाया है। एक कुशल सामाजिक संगठनकर्ता के रूप में भीम सिर्फ पार्टी के मिशन ही नहीं, बल्कि सामाजिक-सांस्कृतिक क्षेत्र में भी अपने कार्यों से मिसाल कायम किए हुए हैं। भीम के प्रदेश अध्यक्ष बनने से जनपद के राजनीतिक समीकरण भी प्रभावित होंगे, ऐसा राजनीतिक विश्लेषक अभी से अंदाज लगाने लगे हैं। सबका मानना है कि एक सामान्य परिवार के साधारण से कार्यकर्ता को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कई समीकरणों को साधने की तैयारी की है। 

बहुजन समाज पार्टी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष भीम राजभर एक अत्यंत साधारण परिवार से आते हैं। इनके पिता रामबली राजभर कोल फील्ड में छत्तीसगढ़ में नौकरी करते थे, इसलिए इनकी प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा छत्तीसगढ़ में ही हुई। वहीं रहते हुए भीम 1985 में ही पार्टी के संस्थापक कांशीराम के मिशन और पार्टी की नीतियों से प्रभावित होकर पार्टी से जुड़ गए थे। वर्ष 1991 में गांव लौटने के बाद एमए एलएलबी भीम ने इंदारा में जनरल स्टोर का व्यवसाय शुरू किया, साथ ही पार्टी को मजबूत बनाने में लगे रहे। इसी बीच नेहरू युवा मंडल से जुड़कर उन्होंने अपने सामाजिक संबंधों को और भी विस्तार दिया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad