इस देश में है कैदियों की कमी, बंद कर चुका है कई जेलें - Ideal India News

Post Top Ad

इस देश में है कैदियों की कमी, बंद कर चुका है कई जेलें

Share This
#IIN



दुनिया में ऐसे कई देश हैं जहां अपराधियों को जेल में रखने तक की जगह नहीं है. कई देश ऐसे हैं जहां एक छोटे से कमरे में 10-10 अपराधियों को रखा जाता है, ऐसे में आपको यह पता चले कि एक ऐसा देश भी है जो अपने यहां लगातार बीते कुछ वर्षों से अपना यहां स्थित जेल को बंद किए जा रहा था. इतना ही नहीं मौजूदा स्थिति यह है कि उसके यहां पर उसके पड़ोसी देश अपने देश के अपराधियों को भेजते हैं. आपको जानकर हैरानी जरूर होगी लेकिन नीदरलैंड एक ऐसा देश हैं जहां अपराध ना के बराबर ही होता है और इस देश में जेल में रह रहे अपराधियों की संख्या काफी कम है.

नीदरलैंड में अपराध काफी कम है और अगर कोई अपराधी जेल जाता है तो उसे जल्दी से बाहर निकालकर समाज से जोड़ने की कोशिश होती है. कुछ समय पहले एक स्टडी में यह बात सामने आई थी कि यहां प्रति एक लाख की आबादी पर 61 लोग ही अपराध करते हैं. जो लोग अपराध करते हैं उनका अपराध भी गंभीर नहीं होता है.

नीदरलैंड की आबादी 1.73 करोड़ से अधिक है. आबादी के हिसाब से अपराध को ध्यान में रखते हुए जस्टिस विभाग ने अनुमान जताया है कि साल 2023 तक देश में करीब 10 हजार अपराधी जेल में हो सकते हैं. भले ही आपको यह संख्या काफी कम लगती हो, लेकिन नीदरलैंड में इसे काफी अधिक माना जाता है.

नीदरलैंड में जेलें इतनी खाली है कि बीते कुछ सालों में यहां पर कई जेलों को बंद कर दिया गया है. इतना ही नहीं वो अपनी जेलों को दूसरे देश के कैदियों को किराए पर भी देता है. नार्वे में अपराध दर काफी ज्यादा है. ऐसे में नार्वे ने साल 2015 में नीदरलैंड में एक व्यवस्था के तहत कैदियों में को भेजना शुरू किया था. दूसरी बात यह भी है कि नीदरलैंड में जेल में किसी फाइव स्टार होटल जैसी व्यवस्था रहती है.

नीदरलैंड में अपराधियों को जेल में भेजने की बजाए उन्हें सामाजिक कार्य या फिर जुर्माना भरने की सजा दी जाती है. ऐसे में जेल में कैदियों की संख्या भी कम होती है.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad