*व्रती महिलाओं ने सूर्य को अर्घ देकर की उपासना, सूर्योदय के इन्तजार में खड़ी व्रती महिलाएं* - Ideal India News

Post Top Ad

*व्रती महिलाओं ने सूर्य को अर्घ देकर की उपासना, सूर्योदय के इन्तजार में खड़ी व्रती महिलाएं*

Share This
#IIN




Anju Pathak and Avdhesh Mishra

जौनपुर 
 जलालपुर क्षेत्र में सई नदी के किनारे मई गाँव के पोखरे पर त्रिलोचन महादेव के तालाब तथा प्रधानपुर गाँव के शिवमंदिर पर स्थित पोखरे पर व्रती महिलाओं ने सुबह सूर्य भगवान को अर्घ देने के लिए पानी में खड़ी होकर इन्तजार कर रही थी, व्रती महिलाओं का सुर्योदय होने का इन्तजार 6 बजकर 40 मिनट पर समाप्त हुआ।*

*सूर्य को उगता देखकर महिलाओं ने अर्घ देकर उनकी उपासना किया, छठ मैया की पूजा के बारे में जानकारी देते हुए व्रती रीना सिंह तथा माया सिंह ने बताया कि कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष के षष्ठी को छठी मैया की पूजा की जाती है, यह पूजा चार दिन तक चलता है, पहले दिन को नहाई खाई कहा जाता है इसमे महिलाएं साफ सफाई के साथ लौकी भात बनाती है और वही पूरा परिवार खाता है।*

*दूसरे दिन को खरना कहते है, इसमें खीर रोटी बनता है, और वही खाया जाता है, और तीसरे दिन महिलाएं पूरा दिन और रात निराजल व्रत रहती है, तथा चौथे दिन सुबह सुर्योदय के एक घंटे पहले से व्रती महिलाएं पानी में खड़ी रहकर पूजा करती है और सुर्योदय होने का इन्तजार करती है।*

*सूर्य के दर्शन होते ही सूर्य भगवान को अर्घ देने के बाद व्रती महिला अपना व्रत तोड़ती है, हिन्दू धर्म में सूर्योपासना का यह महत्वपूर्ण पर्व है, उन्होंने बताया कि व्रती महिलाओं के साथ परिवार की बेटी ,बहू , देवरानी आदि लोग साथ में रहकर सहयोग करती है।*

*जैसे मेरा सहयोग करने के लिए शकुन्तला सिंह, सीमा सिंह ,नीतू सिंह ,सुधा सिंह ,डिम्पल सिंह,दीपा सिंह ,प्रियंका सिंह ,पप्पी सिंह ,रूमा सिंह मौजूद रही हैं।*

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad