ज़रूरत से ज़्यादा विटामिन-डी लेने से हो सकते हैं ये नुकसान - Ideal India News

Post Top Ad

ज़रूरत से ज़्यादा विटामिन-डी लेने से हो सकते हैं ये नुकसान

Share This
#IIN






Dr. RJ Gupta

नई दिल्ली

 एक स्वस्थ और फिट शरीर के लिए आपकी डाइट में सभी पोषक तत्वों का संयोजन होना चाहिए। विटामिन-डी भी पोषक तत्वों का हिस्सा है। यह विटामिन है, जो सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने पर त्वचा में उत्पन्न होता है। यह शरीर के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह फ्लू, दिल की बीमारी, हड्डियों से संबंधित बीमारियों जैसे रोगों को दूर करने में मदद करता है। 

हड्डियों को स्वास्थ्य और मज़बूत बनाए रखने के लिए विटामिन-डी बेहद ज़रूरी है, क्योंकि यह खाने से कैल्शियम के अवशोषण में मदद करता है। विटामिन-डी का स्तर गिरने से शरीर में इसकी कमी हो जाती है। विटामिन-डी की कमी के कुछ सामान्य लक्षण हैं:

विटामिन-डी का ज़रूरत से ज़्यादा सेवन क्यों है ख़तरनाक?

विटामिन-डी ज़रूरत से ज़्यादा खा लेने से शरीर को नुकसान पहुंच सकता है। आइए जानें कि ज़्यादा विटामिन-डी खा लेने से क्या दिक्कतें आ सकती हैं?

खून में कैल्शियम ख़तरनाक स्तर पर पहुंच जाना: जब शरीर में ब्लड कैल्शियम का स्तर ख़तरनाक स्तर पर पहुंच जाता है, तो इस स्थिति को हाइपरकैल्सीमिया कहते हैं, जो ज़्यादा विटामिन-डी के सेवन से हो सकती है। ये ख़तरनाक साबित हो सकता है, क्योंकि इससे थकावट, मतली, चक्कर आना, पाचन से जुड़ी तकलीफें, पेट दर्द, ज़्यादा प्यास लगना, उल्टी और बार-बार पेशाब आना जैसी दिक्कतें शुरू हो सकती हैं।  इसकी वजह से शरीर में कैल्शियम के पत्थर भी बन सकते हैं। 

किडनी में दिक्कत: ज़्यादा विटामिन-डी के सेवन से किडनी को भी नुकसान पहुंच सकता है। जिन लोगों को पहले से किडनी की बीमारी है, उनमें स्थिति बिगड़ने का ज़्यादा ख़तरा है।   

पाचन में दिक्कत: ज़रूरत से ज़्यादा विटामिन-डी के सेवन से डायरिया, कब्ज़, पेट दर्द जैसी पाचन से जुड़ी दिक्कतें शुरू हो सकती हैं।  

हड्डियों में तकलीफ: हड्डियों की मज़बूत बनाए रखने के लिए विटामिन-डी ज़रूरी होता है, लेकिन इसका सेवन ज़रूरत से ज़्यादा कर लेने से भी हड्डियों को नुकसान पहुंच सकता है। शरीर में ज़्यादा विटामिन-डी से विटामिन-के2 का स्तर बिगड़ सकता है, जिससे हड्डियां कमज़ोर पड़ सकती हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad