*कोरोना वैश्विक महामारी में काशी व प्रदेश के लोगों को प्रधानमंत्री ने जो संदेश दिया वह सबल प्रदान किया और अपनापन का एहसास कराया-योगी आदित्यनाथ* - Ideal India News

Post Top Ad

*कोरोना वैश्विक महामारी में काशी व प्रदेश के लोगों को प्रधानमंत्री ने जो संदेश दिया वह सबल प्रदान किया और अपनापन का एहसास कराया-योगी आदित्यनाथ*

Share This
#IIN

Dr. Pramod Vachaspati, [11.11.20 00:43]
वाराणसी/दिनांक 09 नवम्बर, 2020(सू0वि0)

*प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशीवासियों को धनतेरस, दीपावली, गोवर्धन पूजा एवं भाई दूज की दी बधाई एवं शुभकामना*

*दीपावली से पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 614 करोड़ की 30 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास कर लोगों को दीपावली की सौगात दी*

*किसान का श्रम केवल उसके लिए नहीं बल्कि पूरे देश के काम आता है-प्रधानमंत्री*

*महादेव की आशीर्वाद से काशी कभी थकती नहीं हैं, जो गंगा की भारतीय निरंतर आगे बढ़ती रहती है- नरेंद्र मोदी*

*दशाश्वमेध घाट पर टूरिस्ट प्लाजा बनने से वह आने वाले समय में आकर्षण का केंद्र बनेगा, स्थानीय छोटे-छोटे दुकानदारों को भी सुविधा मिलेगी व ग्राहक भी बढ़ेंगे*

*काशी में धीरे-धीरे यहां गंगा घाटों की तस्वीर बदल रही है*

*सारनाथ में लाइट एंड साउंड से भव्यता और बढ़ेगी-प्रधानमंत्री*

*काशी के झूलते-लटकते विद्युत तार यहां की बड़ी समस्या रही, इससे अब काशीवासियों को निजात मिल रही है-नरेंद्र मोदी*

*काशी में सड़क जाम न हो, लोगों को सुगम यातायात की सुविधा मिल सके इसके लिए नया इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ रहा है*

*बनारस में सड़क इंफ्रास्ट्रक्चर का कायाकल्प होते दिख रहा है, वाराणसी में सड़क निर्माण के कई बड़ी परियोजनाओं पर कार्य शुरू हो गए हैं-प्रधानमंत्री*

*वाराणसी रोडवेज के इस नेटवर्क के साथ वाटर कनेक्टिविटी में भी मॉडल बन रहा है-मोदी*

*बिचौलियों व दलालों को सिस्टम से बाहर किया जा रहा है-प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी*

*प्रधानमंत्री ने काशी व उत्तर प्रदेश में बिना रुके व बिना थके हो रहे विकास एवं निर्माण कार्यों के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों सहित सरकारी मुलाजिमों को दिया श्रेय*

*काशी की पुरातन काया को वैश्विक मंच पर स्थापित करने के लिए प्रधानमंत्री के नेतृत्व में अलग-अलग क्षेत्रों में जो विकास कार्य संचालित हुई वह काशी को वैश्विक मंच पर नई पहचान दिलाई है-मुख्यमंत्री*
 

Dr.U.S. Bhagat

 वाराणसी की गौरवमयी विकास यात्रा में सोमवार काशीवासियों को बेहद खास रहा। दीपावली से पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 614 करोड़ की 30 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास कर लोगों को दीपावली की सौगात दी। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि वाराणसी में विकास के जो कार्य हो रहे हैं इसका लाभ बनारस के लोगों को मिल रहा है और इसमें बाबा काशी विश्वनाथ की कृपा है।
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को वर्चुअली आयोजित कार्यक्रम में 614 करोड़ की 30 बड़ी परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास कर वाराणसी के दौड़ते विकास रथ को और गति दी। इस दौरान उन्होंने जनपद के सर्किट हाउस सभागार, कमिश्नरी सभागार, पंडित दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल सभागार, श्री लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा सभागार, दशाश्वमेध घाट तथा शूलटंकेश्वर महादेव मंदिर सहित विभिन्न स्थलों पर लगाए गए बड़ी बड़ी स्क्रीन पर कार्यक्रम को देखने के लिए एकत्रित जन समुदाय से हर हर महादेव का नारा लगाया तथा काशीवासियों को धनतेरस, दीपावली, गोवर्धन पूजा, भाई दूज एवं छठ पूजा की ढेर सारी बधाई शुभकामना दी। इस दौरान उन्होंने कोरोना महामारी के पश्चात बनारस के बाजारों में और रौनक बढ़े और बनारस की साड़ी व्यापार और चमके की भी कामना की। जंसा में किसान सेवा केंद्र एवं किसानों के खाद्यान्न रखने के लिए कपसेठी में 100 मेट्रिक टन क्षमता के बनाए गए गोदाम का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि किसान का श्रम केवल उसके लिए नहीं बल्कि पूरे देश के काम आता है। महादेव की आशीर्वाद से काशी कभी थकती नहीं हैं। जो गंगा की तरह निरंतर आगे बढ़ती रहती है। कोरोना कॉल में जिस जीविटता से काशी ने लड़ाई लड़ी है और जिस सामाजिकता का परिचय दिया, वह प्रशंसनीय है। आज कई सौ करोड़ रुपए धनराशि कि विकास परियोजनाओं की काशी में शुरुआत हो रही है। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि काशी में जब कोई काम शुरू होता है तो उससे पूर्व काफी काम पूरा हो चुका होता है। आज 219.89 करोड़ रुपए की 16 परियोजनाओं का लोकार्पण हो रहा है तो 394.11 करोड़ रुपए की 14 परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया गया। 
 प्रधानमंत्री ने काशी व उत्तर प्रदेश में बिना रुके व बिना थके हो रहे विकास एवं निर्माण कार्यों के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों सहित सरकारी मुलाजिमों को श्रेय दिया। उन्होंने कहा कि बनारस के शहर एवं देहात में पर्यटन, संस्कृति, सड़क, बिजली आदि संपूर्ण क्षेत्रों में एतिहासिक विकास कार्य हुआ है और हो भी रहा है। हमेशा प्रयास रहता है कि बनारस के लोगों के भावना के अनुरूप

विकास का पहिया चलता एवं बढ़ता रहे। गंगा सफाई, शहर की आंतरिक एवं बाहरी सड़कों का निर्माण कार्य, यातायात व्यवस्था, सीवरेज, पेयजल, पुल आदि हर क्षेत्र में बनारस ने नई गति प्राप्त की हुई हैं। एसटीपी व शाही नाला से गंगा में सीवर पानी गिरने से रोकने के लिए डायवर्जन कार्य का लोकार्पण आज हुआ। दशाश्वमेध घाट पर टूरिस्ट प्लाजा बनने से वह आने वाले समय में आकर्षण का केंद्र बनेगा। स्थानीय छोटे-छोटे दुकानदारों को भी सुविधा मिलेगी व ग्राहक भी बढ़ेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि धीरे-धीरे यहां गंगा घाटों की तस्वीर बदल रही है। पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी तो वे अच्छा महसूस करके अच्छा अनुभव प्राप्त कर यहां से जाएंगे। सारनाथ में लाइट एंड साउंड से भव्यता और बढ़ेगी। काशी के झूलते-लटकते विद्युत तार यहां की बड़ी समस्या रही। इससे अब काशीवासियों को निजात मिल रही है। काशी में सड़क जाम न हो, लोगों को सुगम यातायात की सुविधा मिल सके इसके लिए नया इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ रहा है। एयरपोर्ट मार्ग तथा वहां पर नवनिर्मित बने दो पैसेंजर बोर्डिंग ब्रिज नई पहचान बनेंगे और इससे पर्यटकों को सुविधा बढ़ेगी।
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 6 वर्ष पूर्व जब लोगों ने सेवा का अवसर दिया तो वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा से 12 फ्लाइट चलती थी, आज 48 फ्लाइट उड़ाने भर्ती हैं। इसका मतलब है कि यहां पर आने वालों की संख्या बढ़ रही है। बनारस में सड़क इंफ्रास्ट्रक्चर का कायाकल्प होते दिख रहा है। वाराणसी में सड़क निर्माण के कई बड़ी परियोजनाओं पर कार्य शुरू हो गए हैं। वाराणसी रोडवेज के इस नेटवर्क के साथ वाटर कनेक्टिविटी में भी मॉडल बन रहा है। यहां पर देश का पहला इनलैंड वाटर-वे बन चुका है। काशी उत्तर प्रदेश ही नहीं पूरे पूर्वांचल के लिए चिकित्सा सुविधा का हब बन चुका है। वाराणसी में चौतरफा विकास हो रहा है। इससे पूर्वांचल ही नहीं पूरे पूर्वी भारत के लोगों को लाभ मिल रहा है। वाराणसी से फल, सब्जी एवं धान पहली बार विदेशों को गया है। गांव, गरीब, किसान आत्मनिर्भर के सबसे बड़े स्तंभ व लाभार्थी भी हैं। बिचौलियों व दलालों को सिस्टम से बाहर किया जा रहा है। इसका लाभ किसान सहित सभी को मिलेगा। रेहड़ी-पटरी वालों को प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से सबसे सरल तरीके से लोन मिल रहा है। कोरोना काल में आयी समस्या से उबरने के लिए उन्हें 10 हजार रुपये का सहयोग मिल रहा है। गांवों में भूमि विवाद समाप्त करने के लिए स्वामित्व योजना से प्रॉपर्टी कार्ड को दिया रहा है। इससे गांव में भूमि की समस्या समाप्त हो जाएगी। जमीनों पर अवैध कब्जे की समस्या का भी समाधान हो जाएगा। स्वामित्व कार्ड धारक बैंकों से ऋण भी प्राप्त कर सकेंगे। प्रधानमंत्री ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि काशी को काशी ही प्रकाशित करती हैं और काशी सभी को प्रकाशित करती है। काशी को सीधे महादेव का आशीर्वाद है। विकास की यह गंगा ऐसे ही कल-कल बहती रहेगी। लोकल के लिए वोकल, वोकल फॉर लोकल फॉर दीपावली की गूंज चारों तरफ सुनाई देने लगी है। उन्होंने विशेष रूप से काशीवासियों का आह्वान करते हुए कहा कि काशी के लोग लोकल और दीपावली की चर्चा करें। इसे एक दूसरे तक पहुंचाएं कि हमारी लोकल सामग्री कितने अच्छे हैं और गुणवत्तायुक्त हैं। इससे सामग्री बनाने वालों की भी दीपावली अच्छे से मनेगी। लोकल के लिए बोकल बने। दीपावली मनाए लोकल के साथ, इससे अर्थ चेतना में नई पहचान आ जाएगी। उन्होंने विशेष रूप से जिक्र करते हुए कहा कि हर चीज लोकल ले। देश के लोग पसीना बहा रहे हैं। उनके बनाए चीज को जब हम लेते हैं तो उनका उत्साह बढ़ जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि काशी से जो भी हमने मांगा और जब मांगा, काशीवासियों ने दिल खोलकर दिया, सहयोग किया।

 इससे पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी की पदमश्री एवं अर्जुन अवॉर्डी बास्केटबॉल खिलाड़ी प्रशांति सिंह से वार्ता के दौरान दीपावली की ढेर सारी बधाई देते हुए पूछा कि आप लोग दीपावली की तैयारी में तो लगे होंगे। उन्होंने बनारस में दीपावली की तैयारी के बाबत भी जानकारी पूछते हुए कहां की क्या बनारस में दिवाली की तैयारी हो चुकी है। कोरोना काल के पश्चात बनारस के स्टेडियम में कौन-कौन से खेल चालू हो चुके हैं। 8.76 करोड़ की लागत से डॉक्टर संपूर्णानंद खेल स्टेडियम में बने एवं आज लोकार्पित हुए आवासीय कांप्लेक्स, चेंजिंग रूम, पवेलियन एवं मुख्य भवन आदि के निर्माण तथा मरम्मत कार्य के बाबत प्रशांति सिंह ने प्रधानमंत्री को ढेर सारी बधाई देते हुए बताया कि इससे पूर्व खिलाड़ी सीढ़ियों पर टिफिन करते थे और तमाम सुविधाएं होती थी। लेकिन अब उन्हें तमाम सहूलियत मिलेगी। उन्होंने बताया कि इन सुविधाओं से हम लोग अब राज्य स्तर के लिए तैयार हैं। शीघ्र ही अंतरराष्ट्रीय स्तर के लिए भी तैयार होंगे प्रधानमंत्री ने विशेष रुप से कामना करते हुए कहा कि बनारस खेल जगत में प्रगति करें।
 
चाँदपुर इंडस्ट्रियल एरिया के उद्यमी विपिन कुमार अग्रवाल से वार्ता के दौरान प्रधानमंत्री ने इकाइयों में कार्यरत श्रमिकों के लिए बेहतर वातावरण एवं माहौल के साथ साफ-सफाई एवं स्वच्छता बनाए रखने पर जोर दिया। उन्होंने उद्यमी से पूछा कि कोरोना के बाद क्या स्थिति में सुधार हुआ। उद्यमी विपिन कुमार अग्रवाल ने 10.84 करोड़ रुपए लागत से चाँदपुर इंडस्ट्रियल एरिया की सड़कों एवं नालियों की मरम्मत कार्य शुरू कराए जाने हेतु प्रधानमंत्री के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए बताया कि इससे पूर्व अनेकों बार किए जाने के बावजूद यह कार्य नहीं हो पाया। जिस कारण वे लोग बाहर से अपने उत्पादित सामानों को क्रय करने हेतु बायर को नहीं बुलाते थे। लेकिन अब इंडस्ट्रियल एरिया की सड़कों मैं सुधार एवं विकास होने से लोग बाहर से बायर को बुला सकेंगे।
 कालभैरव क्षेत्र में रहने वाली गृहिणी नीलिमा मेहता से वार्ता के दौरान प्रधानमंत्री ने जय काशी के उद्घोष के साथ उनका हाल जाना और बाबा काल भैरव को प्रणाम करते हुए पूछा कि आपकी गली साफ-सुथरी दिख रही है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता एवं साफ-सुथरा नागरिकों के सहयोग के बगैर संभव नहीं है। काशी का कण-कण पवित्र है। प्रधानमंत्री ने पूछा आपके गलियों तक रोशनी पहुंच रहा है, इस पर नीलिमा ने जवाब देते हुए कहा कि शाम को जब गलियों में बिजली जलती है तो मजा आ जाता है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में चूहों का भी काफी आतंक रहा लेकिन स्मार्ट सिटी योजना अंतर्गत उनके काल भैरव वार्ड की गलियों में लगाए जा रहे चौका पत्थर के कारण चूहों का आतंक भी खत्म हो जाएगा।
 इससे पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 614 करोड़ लागत की 30 बड़ी परियोजनाओं का दिल्ली से ही वर्चुअली कार्यक्रम के दौरान डिजिटली बटन दबाकर जैसे ही उद्घाटन एवं शिलान्यास किया, सभागार तालियों की गड़गड़ाहट से गुजाएंमान हो गया।
 इससे पूर्व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ से वर्चुअली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करते हुए दीपावली से पूर्व काशीवासियों को मिले इस सौगात के लिए बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि काशी की पुरातन काया को वैश्विक मंच पर स्थापित करने के लिए प्रधानमंत्री के नेतृत्व में अलग-अलग क्षेत्रों में जो विकास कार्य संचालित हुई वह काशी को वैश्विक मंच पर नई पहचान दिलाई है। कोरोना वैश्विक महामारी में काशी व प्रदेश के लोगों को प्रधानमंत्री ने जो संदेश दिया वह सबल प्रदान किया और अपनापन का एहसास कराया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी कार्यकाल के दौरान अब तक वाराणसी में 18000 करोड़ से अधिक धनराशि की परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं तथा 9000 से अधिक धनराशि की परियोजनाएं गतिमान एवं संचालित हैं। उन्होंने विशेष रूप से देते हुए कहा कि निश्चित रूप से इन परियोजनाओं को पूर्ण होने पर काशी की अलग पहचान वैश्विक मंच पर स्थापित होगा। कार्यक्रम का संचालन मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी उत्तर प्रदेश ने किया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad