पुष्टाहार कार्यक्रम के अन्तर्गत समन्वित बाल विकास परियोजनाओं पर राज्य सरकार द्वारा दिया जाने वाला पोषाहार हेतु रुपये 05 अरब 30 करोड़ 37 लाख 04 हजार स्वीकृत - Ideal India News

Post Top Ad

पुष्टाहार कार्यक्रम के अन्तर्गत समन्वित बाल विकास परियोजनाओं पर राज्य सरकार द्वारा दिया जाने वाला पोषाहार हेतु रुपये 05 अरब 30 करोड़ 37 लाख 04 हजार स्वीकृत

Share This
#IIN





Dr. Shashank Shekhar Mishra

लखनऊ

प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए पुष्टाहार कार्यक्रम के अन्तर्गत समन्वित बाल विकास परियोजनाओं पर राज्य सरकार द्वारा दिया जाने वाला पोषाहार में प्रावधानित धनराशि के सापेक्ष रूपये 05 अरब 30 करोड़ 37 लाख 04 हजार की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की है। इस संबंध में बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार द्वारा शासनादेश जारी किया गया है।
जारी शासनादेश के अनुसार वित्तीय वर्ष 2020-21 में पुष्टाहार कार्यक्रम के अन्तर्गत समन्वित बाल विकास परियोजनाओं पर राज्य सरकार द्वारा दिया जाने वाला पोषाहार के लिए प्राविधानित धनराशि रूपये 302000 लाख (रूपये तीस अरब बीस करोड़ मात्र) के सापेक्ष अनुपूरक पुष्टाहार हेतु सम्भावित व्यय के दृष्टिगत आवश्यक धनराशि केन्द्रांश रुपये 26518.52 लाख एवं राज्यांश रू0 26518.52 लाख अर्थात् कुल रूपये 53037.04 लाख (रू0 पांच अरब तीस करोड़ सैंतीस लाख चार हजार मात्र) की वित्तीय स्वीकृति शर्तों एवं प्रतिबन्धों के अधीन प्रदान की गई हैं।
स्वीकृत धनराशि का व्यय केवल प्रश्नगत योजना पर ही, समय-समय पर भारत सरकार राज्य सरकार द्वारा निर्धारित तत्सम्बन्धी मानकों/निर्देशों के अनुसार व्यय किया जाये और किसी भी दशा में स्वीकृत धनराशि से अधिक का व्यय नहीं किया जाये। स्वीकृत धनराशि को किसी अन्य योजना/कार्यक्रम/मद/इकाई पर व्यय नहीं किया जायेगा। यह सुनिश्चित किया जायेकि प्रश्नगत कार्य किसी अन्य कार्ययोजना में सम्मिलित नहीं है तथा इस हेतु पूर्व में किसी अन्य योजना/स्रोत से धनराशि स्वीकृत नहीं की गयी हो।
वित्तीय वर्ष 2020-21 में पुष्टाहार कार्यक्रम के अन्तर्गत समन्वित बाल विकास परियोजनाओं पर राज्य सरकार द्वारा दिये जाने वाला पोषाहार हेतु आय-व्ययक में प्रावधानित धनराशि रूपये 302000लाख (रूपये तीस अरब बीस करोड़ मात्र) के सापेक्ष शासनादेश 26 जून, 2020 द्वारा धनराशि रूपये 26925.42 लाख एवं शासनादेश 21 अक्टूबर, 2020 द्वारा धनराशि रूपये 31491.46 लाख की वित्तीय स्वीकृति निर्गत की जा चुकी है।
सम्पर्क सूत्रः-धर्मवीर खरे

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad