*अयोध्या: शादी से इंकार करने पर महिला सिपाही ने की बहनों संग मिलकर सिपाही की हत्या, पांच गिरफ्तार* - Ideal India News

Post Top Ad

*अयोध्या: शादी से इंकार करने पर महिला सिपाही ने की बहनों संग मिलकर सिपाही की हत्या, पांच गिरफ्तार*

Share This
#IIN






Dr.S.K.Maurya

अयोध्या
 मथुरा के रहने वाले, अयोध्या में तैनात सिपाही की हत्या उसी के साथ तैनात महिला सिपाही ने शादी से इनकार करने पर की। उसके साथ हत्या में दो सगी बहनें और तीन अन्य साथी शामिल थे। महिला सिपाही की एक अन्य बहन भी हेड कांस्टेबल है। लवेदी थाने के भादोपुर वाले रास्ते पर ददौरा नहर में 8 अक्टूबर को सिपाही योगेश चौहान का शव मिला था।
 *मथुरा के बालाजीपुरम में रहने वाले योगेश की तैनाती अयोध्या के रामजन्मभूमि थाने में थी। सिपाही के भाई सुनील चौहान ने अयोध्या में ही उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पुलिस ने मामले की छानबीन की तो प्रथमदृष्टया रामजन्मभूमि थाने में ही तैनात महिला सिपाही मंदाकिनी उर्फ संगीता की भूमिका संदिग्ध दिखाई दी। इसके बाद पुलिस ने सर्विलांस, मोबाइल डिटेल, मोबाइल फोन की लोकेशन आदि से छानबीन की। भूमिका की पुष्टि होने पर पुलिस ने मंदाकिनी को हिरासत में लेकर पूछताछ की।*
 *पूछताछ में उसने बताया कि योगेश से उसकी दोस्ती थी और वह योगेश से शादी करना चाहती थी। योगेश ने शादी से इंकार कर दिया। इस पर उसने मथुरा में हेडकांस्टेबल के पद पर अपनी बहन मीना व गांव में रहने वाली बहन ममता से बात की। दोनों बहनों ने भी योगेश को शादी के लिए समझाया, लेकिन वह किसी तरह तैयार नहीं हुआ। इस पर तीनों ने मिलकर उसकी हत्या की साजिश रची। पुलिस ने तीनों सगी बहनों समेत पांच लोगों को गिरफ्तार करके घटना का पर्दाफाश किया, इनका एक साथी अभी पुलिस की गिरफ्त से दूर है।*

 *ऐसे की गई थी सिपाही की हत्या*

 *तीनों बहनों ने अपने तीन साथियों को एक लाख रुपए का प्रलोभन देकर हत्या की साजिश में शामिल किया। एएसपी ओमवीर सिंह ने बताया कि इनको 10 हजार रुपए एडवांस दिए गए योजना के अनुसार सात अक्टूबर को जब योगेश छुट्टी लेकर मथुरा जाने लगा तो मंदाकिनी ने भी छुट्टी ले ली और उसके साथ ही बस से इटावा आई। यहां पहले से ही एक कार में सवार मीना, ममता व तीन अन्य साथी मिले और उसको लेकर बकेवर की ओर चल दिए। आगरा-कानपुर हाईवे पर कार के अंदर ही राड मारकर सिपाही को बेहोश कर दिया गया और उसके बाद नानचाक से सिपाही का गला घोंटकर हत्या कर दी गई। शिनाख्त मिटाने के लिए उसके कपड़े उतार लिए और उसके चेहरे पर टायलेट क्लीनर डाल दिया। बाद में शव को नहर में फेंक दिया। कपड़े कुछ दूरी पर जाकर जला दिए और मिट्टी में दबा दिए। पकड़े गए अभियुक्तों की निशानदेही पर अधजले कपड़े, जूते, पुलिस का आईकार्ड व आधार कार्ड भी पुलिस टीम ने बरामद कर लिए।*

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad