गोभी का पराठा बनाने का सबसे आसान तरीका - Ideal India News

Post Top Ad

गोभी का पराठा बनाने का सबसे आसान तरीका

Share This
#IIN





ANJU PATHAK

आप मेहमानों को किसी भी समय गोभी के परांठे परोस सकते हैं मक्खन और चटनी के साथ इनका स्वाद और भी बड़ जाता है. गोभी का पराठा पंजाब में बहुत ही लोकप्रिय है। इसमें गोभी को मसालों के साथ मिलाकर मसालेदार बनाया जाता है और फिर उसे पराठे में भरकर गोभी के पराठे बनाए जाते हैं। आलू के पराठों की तरह ही गोभी के पराठे भी देशभर में मशहूर हैं और आपको हर रेस्तरां व घर में ये मिल जाएंगे। गोभी पराठा बनाना बहुत आसान है और आपको इसके लिए किसी विशेष सामग्री की आवश्यकता नहीं होती।

सामग्री

गोभी आधा किलो

जीरा भून कर बारीक पिसा हुआ

हरी मिर्च – 2से 3

आटा – 2 बड़ी कटोरी

धनिया पाउडर – 1 छोटी चम्मच

लाल मिर्च – 1 छोटी चम्मच

नमक – स्वादानुसार

गरम मसाला एक छोटी चम्मच

हरा धनिया – आधी छोटी कटोरी

तेल या घी

विधि

गोभी को अच्छी तरह से धो लीजिये, उसके बाद गोभी को कदूकस कर लीजिये और हरी मिर्च, हरे धनिया को बारीक काट लीजिये| गोभी मे पिसा हुआ जीरा, धनिया पाउडर, गरम मसाला, लाल मिर्च पाउडर डाल कर अच्छी तरह से मिला लीजिये।

उसके बाद गोभी मे से पानी दबा दबा कर निकालना है, या फिर कड़ाही मे मूली का मसाला डाल कर गैस को 5 मिनट के लिये चलाएं, ताकि पानी निकाल जाये|

आटे मे नमक स्वादानुसार डाले फिर आटे को अच्छी तरह से घूंथ लीजिये|

फिर आटे की लोई बनाए और उसको रोटी की तरह बेल लीजिये, उसमे गोभी का मसाला डाल दीजिये और उसको चारो तरफ से मिला दीजिये, पलोथन लगा कर फिर से बेल लीजिये।

उस के बाद तवे पर डाल कर दोनों तरफ से सेख लीजिये, पराठे पर तेल या घी लगा कर सेख लीजिये| पराठा बन कर तैयार है।

गोभी पराठे को निम्नलिखियत तरीके से हैल्दी बनाया जा सकता है:

  • पौष्टिकता बढ़ाने के लिए आप गोभी के पराठे में गोभी के साथ कुछ अन्य सब्जियां भी मिला सकते हैं, जैसे ब्रोकली, बीन्स आदि।
  • अगर आप ज्यादा तेल नहीं खाना चाहते, तो आप पराठे को रोटी की तरह ही कम तेल में भी तल सकते हैं।
  • प्रोटीन की मात्र बढ़ाने के लिए पराठे की स्टफिंग में पनीर को मैश करके भी मिलाया जा सकता है।
  • पराठा बनाने के लिए सामान्य घी की जगह देसी घी का उपयोग करें। इसमें कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है।
  • अगर आप पराठे बनाने के लिए तेल का उपयोग कर रहे है, तो जैतून के तेल का इस्तेमाल करने का प्रयास करें।
  • आप चाहें तो सामान्य आटे की जगह मल्टीग्रेन आटे से भी पराठे बना सकते हैं।
  • जिन लोगों को हाई बीपी की समस्या है, वे पराठे में कम से कम मसालों का उपयोग करें।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad