मुख्तार अंसारी के बेटों की गिरफ्तारी पर कोर्ट ने लगाई रोक - Ideal India News

Post Top Ad

मुख्तार अंसारी के बेटों की गिरफ्तारी पर कोर्ट ने लगाई रोक

Share This
#IIN



Dr. Shashank Shekhar Mishra

लखनऊ

 इलाहाबाद हाई केार्ट की लखनउ खंडपीठ ने बुधवार केा माफिया डान और बीएसपी एमएलए मुख्तार अंसारी के दो बेटों के खिलाफ डालीबाग की एक शत्रु सम्पत्ति पर निर्माण करने के मामले दर्ज प्राथमिकी पर दौरान विवेचना उनकी गिरफतारी पर अंतरिम रेाक लगा दी है।  केार्ट ने हालांकि देानों को विवेचना में सहयेाग करने का आदेश दिया है।

यह आदेश जस्टिस डी के उपाध्याय व जस्टिस संगीता यादव की पीठ ने अब्बास अंसारी व उमर अंसारी की याचिका पर पारित किया है। कोर्ट ने सरकार केा चार हफ्ते में अपना प्रतिशपथपत्र दाखिल करने का भी आदेश दिया है।

याचियेां की अेार वरिष्ठ अधिवक्ताओं जेएन माथुर , एचजीएस परिहार व अरूण सिन्हा ने पक्ष रखा। माथुर ने तर्क दिया कि प्राथमिकी को पढ़ने से ही याचियेां के खिलाफ प्रथम  दृष्टया केाई अपराध नहीं बनता । उन्होंने कहा कि जब अपराध कारित करने की बात कही जा रही है तब तेा याचियेां का जन्म भी नहीं हुआ था। कहा गया कि दुर्भावना के कारण प्राथमिकी लिखायी गयी है।

वहीं महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह ने याचिका का विरोध करते हुए कहा कि याचिका पोषणीय नहीं है क्योकि याचीगण कोर्ट के सामने क्लीन हैण्ड से नहीं आये हैं । उन्हेाने यह भी तर्क दिया कि याची अग्रिम जमानत का आवेदन कर सकते हैं अतः उन्हें रिट दायर कर प्राथमिकी केा चुनौती देने का अधिकार नहीं है। कोर्ट ने महाधिवक्ता के सारे तर्को को नकार दिया । केार्ट ने यहां तक कहा कि महाधिवक्ता के तर्क मिथ्या हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad