लोनी एसएचओ लाइन हाजिर - Ideal India News

Post Top Ad

लोनी एसएचओ लाइन हाजिर

Share This
#IIN




Manoj Bhatnagar 

गाजियाबाद

 डीएसपी राजकुमार पांडेय के आरोपों के बाद बृहस्पतिवार को एसएसपी कलानिधि नैथानी ने एसएचओ लोनी बिजेंद्र सिंह भड़ाना को लाइन हाजिर कर दिया। डीएसपी ने एसएसपी को इंस्पेक्टर भड़ाना के खिलाफ शिकायत दे कई गंभीर आरोप लगाए हैं। बृहस्पतिवार को डीएसपी ने वाट्सएप ग्रुपों पर दो और वीडियो क्लिप डाली। एक में लड़की के साथ गलत करने की बात एक युवक कह रहा है, जिसमें किसी का भी नाम स्पष्ट नहीं हो रहा। वहीं दूसरे में एक महिला दूसरी महिला को फोन कर दो लड़कों के खिलाफ किशोरी से दुष्कर्म के आरोपों को बेबुनियाद बता रही है। आगे की बात सही से सुनाई नहीं दे रही है।

लोनी सर्किल में तैनात रहे डीएसपी राजकुमार पांडेय ने बुधवार को आडियो व वीडियो वायरल कर इंस्पेक्टर बिजेंद्र सिंह भड़ाना पर जेल भेजने की धमकी देने के आरोप लगाया था। पूर्व में एसएसपी कलानिधि नैथानी से शिकायत करने और कई बार एसएसपी को कॉल करने पर बात न करने का भी आरोप लगाया था। उन्होंने बृहस्पतिवार को प्रेसवार्ता करने की भी बात कही थी, लेकिन रात को वीडियो डाला कि वह प्रेसवार्ता नहीं करेंगे। मामले में आइजी प्रवीण सिंह ने एसएसपी से रिपोर्ट मांगी थी तो वहीं एसएसपी ने सीओ क्राइम आलोक दुबे को मामले की जांच सौंपी थी। ----

'वर्दी की आड़ में माफिया जैसा व्यवहार'

डीएसपी राजकुमार पांडे ने बृहस्पतिवार को लिखित शिकायत दे आरोप लगाया कि लोनी सर्किल में उनकी तैनाती के दौरान एसएसचओ लोनी रहते हुए बिजेंद्र भड़ाना ने हत्या व लूट की किसी भी बड़ी घटना के बारे में नहीं बताया। उनके दिए निर्देश नहीं माने। 24 सितंबर 2019 को नफीस कुरैशी की हत्या हो गई थी, जबकि उनकी सुरक्षा के लिए डीएसपी ने इंस्पेक्टर को निर्देश दिए थे। आरोप है कि सेक्स रैकेट चलाने वाली महिला से इंस्पेक्टर भड़ाना की साठगांठ है। उन्होंने बिजेंद्र भड़ाना पर आय से अधिक संपत्ति से लेकर पेट्रोल पंप में हिस्सेदारी और अवैध कब्जा कराने का भी आरोप लगाते हुए कहा कि वह वर्दी की आड़ में माफिया जैसा व्यवहार करता रहा। गलत रिपोर्ट दे दो चौकी प्रभारियों के खिलाफ कार्रवाई कराने का भी आरोप लगाया। कहा कि एक महिला से इंस्पेक्टर के अवैध संबंध हैं, जिसमें पीड़ित पति ने शिकायत भी की थी।

---- इंस्पेक्टर भड़ाना ने नहीं उठाई कॉल

बृहस्पतिवार को डीएसपी की ओर से दी शिकायत में लगाए आरोपों को लेकर इंस्पेक्टर बिजेंद्र भड़ाना को कई बार कॉल की गई। मगर उन्होंने एक बार भी काल नहीं उठाई। हालांकि बुधवार को उन्होंने आरोपों का खंडन किया था। वहीं जांचकर्ता सीओ क्राइम आलोक दूबे ने भी बयान जारी कर कहा है कि डीएसपी राजकुमार पांडेय का डीओ नहीं बनाया गया। ----

दो थानों के प्रभारी बदले

बिजेंद्र भड़ाना को लाइन हाजिर करने के साथ ही एसएसपी ने ट्रॉनिका सिटी प्रभारी ओपी सिंह को लोनी थाने की कमान दी है। उमेश पंवार को ट्रॉनिका सिटी थाना प्रभारी और टीला मोड़ से अतिरिक्त निरीक्षक बृज मोहन को एएचटीयू (एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिग यूनिट) प्रभारी बनाया गया है।

---- सीओ क्राइम ने पत्र भेजा था कि सही जांच के लिए बिजेंद्र भड़ाना को लाइन हाजिर किया जाए। इसलिए उन्हें लाइन भेजा गया है। डीएसपी की कुछ शिकायत मेरे कार्यकाल से पहले की हैं, जिनकी तस्दीक कराई जा रही है। मुझसे कोई शिकायत नहीं की गई। महिला के पति ने शिकायत देने से इन्कार किया है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad