किशोरी को जिंदा जलाने पर आजीवन कारावास - Ideal India News

Post Top Ad

किशोरी को जिंदा जलाने पर आजीवन कारावास

Share This
#IIN


 Ajay Mishra and Dr. Nandlal Yadav

आजमगढ़ 

 मेंहनगर क्षेत्र में छह वर्ष पूर्व किशोरी को जिदा जलाकर मार डालने के आरोप में कोर्ट ने बुधवार को हत्यारोपित युवक को आजीवन कारावास के साथ ही 60 हजार रुपये अर्थ दंड भी लगाया। उक्त फैसला विशेष न्यायाधीश पाक्सो कोर्ट नंबर एक रवीश कुमार अत्री की अदालत ने सुनाया।

अभियोजन कथन के अनुसार मेंहनगर थाना क्षेत्र के एक गांव की पीड़ित महिला 27 अगस्त 2014 को घर से दवा लेने निकली थी। उसी दिन सुबह लगभग आठ बजे उसकी पुत्री को घर में अकेला देख गांव के ही दीपक उर्फ दीपू घर में घुस आया। वह उनकी नाबालिक पुत्री को घर से भाग चलने के लिए दबाव बनाने लगा। इंकार करने पर आरोपित युवक उसका हाथ पकड़कर खींचने लगा। एतराज करने पर आरोपित ने चूल्हा के पास रखे मिट्टी का तेल उसकी पुत्री के ऊपर डालकर आग लगा दी। झुलसी पुत्री को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। मुकदमे के विवेचक ने जांच के बाद आरोपित दीपक उर्फ दीपू के विरुद्ध न्यायालय में चार्जशीट प्रेषित कर दिया। अभियोजन अधिकारी मानिकचंद यादव ने वादी मुकदमा समेत नौ गवाहों को न्यायालय में परीक्षित कराया। दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद अदालत ने आरोपी दीपक उर्फ दीपू को उम्रकैद के साथ ही 60 हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई। संयुक्त निदेशक अभियोजन वीपी वर्मा ने बताया कि मिशन शक्ति के तहत महिलाओं व किशोरियों से जुड़े अपराधों में अभियोजन विभाग अपराधियों को सजा दिलाने के लिए कटिबद्ध है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad