चीन के साथ कोर कमांडर स्‍तर की बैठक से पहले पूर्वी लद्दाख के हालात पर चर्चा - Ideal India News

Post Top Ad

चीन के साथ कोर कमांडर स्‍तर की बैठक से पहले पूर्वी लद्दाख के हालात पर चर्चा

Share This
#IIN







नई दिल्ली

 भारत और चीन के बीच सातवें दौर की कोर कमांडर स्तर की बातचीत से पहले शुक्रवार को यहां शीर्ष सैन्य अधिकारियों और राजनीतिक लोगों ने पूर्वी लद्दाख के मौजूदा हालात की समीक्षा करने के साथ ही बैठक की रणनीतियों पर चर्चा की। कोर कमांडरों की बैठक 12 अक्टूबर को होने वाली है। इस बार कोर कमांडरों के बीच बातचीत पूर्वी लद्दाख के सभी टकराव वाले बिंदुओं से सैनिकों को हटाने की रुपरेखा तय करने के एजेंडे पर होनी है।

सूत्रों ने बताया कि चाइना स्टडी ग्रुप (सीएसजी) की बैठक में पूर्वी लद्दाख के मौजूदा हालात की समीक्षा करने के साथ ही सोमवार को होने वाली कोर कमांडरों की बैठक में भारत की तरफ से उठाए जाने वाले मुख्य मुद्दों पर चर्चा हुई। सीएसजी में विदेश मंत्री एस जयशंकर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और सेना के तीनों अंगों के प्रमुख शामिल हैं।

सूत्रों ने बताया कि सेना प्रमुख जनरल एमएन नरवाने ने बैठक में पूर्वी लद्दाख में मौजूदा हालात की जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक कोर कमांडर स्तर की बातचीत की रणनीति को अंतिम रूप देने के लिए यह बैठक बुलाई गई थी। भारतीय दल का नेतृत्व लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह करेंगे। विदेश मंत्रालय का एक अधिकारी भी बैठक में मौजूद रहेगा।

उल्‍लेखनीय है कि पूर्वी लद्दाख में चीन के अड़ियल रुख के चलते गतिरोध बरकरार है। दोनों देशों की सेनाएं सीमा पर डटी हुई हैं। चीन की चुनौती से निपटने के लिए भारत अपनी सामरिक स्‍थ‍िति भी मजबूत कर रहा है। भारत ने शुक्रवार को अपनी पहली स्वदेशी एंटी-रेडिएशन मिसाइल 'रुद्रम-1' का सफल परीक्षण किया। दुश्मन के सिग्नल और रेडिएशन प्रणाली को पकड़ कर उसे नष्ट करने में सक्षम इस मिसाइल की रफ्तार आवाज से भी दोगुनी तेज है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad