बिजली निगम को बेहतर बनाने में जुटे कर्मचारी* - Ideal India News

Post Top Ad

बिजली निगम को बेहतर बनाने में जुटे कर्मचारी*

Share This
#IIN
धर्मेन्द्र सेठ जौनपुर
*बिजली निगम को बेहतर बनाने में जुटे कर्मचारी



जौनपुर। घाटे से जूझ रहे बिजली विभाग को फायदे में लाने के लिए कवायद शुरू हो गई है। इसके लिए सभी अधिकारियों-कर्मचारियों को टास्क दिए गए हैं। उन्हें वसूली बढ़ाना है, लाइन लास घटाना है और उपभोक्ताओं की छोटी-छोटी शिकायतों को भी त्वरित गति से समाधान कर संतुष्ट करना है। इस तमाम कवायदों का मकसद विभाग की स्थिति को सुदृढ़ करना है, जिससे निजीकरण का फैसला स्थाई रुप से टाला जा सके।

विद्युत वितरण निगम का सरकार ने निजीकरण करने का निर्णय लिया था। इसकी जानकारी होने के बाद बिजली कर्मचारी आंदोलित हो गए। कई दिनों तक सांकेतिक विरोध के बाद पूरे प्रदेश में कार्य बहिष्कार कर धरने पर बैठ गए। पांच और छह अक्तूबर को कार्य बहिष्कार के दौरान प्रदेश की बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो गई। आकस्मिक सेवाएं बिजली के अभाव में चरमरा गई। पानी के लिए लोग तरसने लगे थे। कई जगहों पर आम जनता सड़क पर उतर आई। बाद में सरकार ने निजीकरण का प्रस्ताव तीन माह के लिए स्थगित करते हुए कर्मचारियों का आंदोलन समाप्त कराया था। आंदोलन खत्म कर अधिकारी-कर्मचारी काम पर तो लौट आए हैं, लेेकिन उनकी जिम्मेदारी बढ़ गई है। सरकार ने शर्त रखी है कि अगर निजीकरण को स्थाई रुप से टालना है तो परफार्मेंस सुधारना होगा। जिले के बिजली कर्मचारी भी इस टास्क को पूरा करने में जुट गए हैं। सभी कर्मचारी अपने-अपने कार्यों को पूरी निष्ठा के साथ पूरा करने, कार्यों को गुणवत्ता पूर्ण करने, सप्ताह में एक दिन कैंप लगाकर बकाया वसूलने व उपभोक्ताओं की समस्याएं सुनकर निस्तारित करने, हर हाल में बकाया वसूलने, स्वतंत्र प्रवर्तन दल आवंटित कर बिजली बकाया वसूलने आदि कार्य करने की रणनीति बनाई गई है। बता दें कि जिले में पांच लाख 95 हजार उपभोक्ता हैं। इन उपभोक्ताओं को शेड्यूल् के मुताबिक बिजली देने का कार्य बिजली निगम की ओर से किया जा रहा है। इन उपभोक्ताओं के यहां अभी बिजली का 1500 करोड़ रुपया बिल बकाया है। इसमें सरकारी बकाया 19 करोड़ 81 लाख रुपया है। शेष बकाया प्राइवेट उपभोक्ताओं के यहां हैं। इसे वसूलने के लिए बिजली कर्मचारियों ने कमर कस लिया है।

*10 व 11 को लगेगा सभी उपखंडों पर महाकैंप*

जौनपुर। बिजली विभाग की ओर से बिजली संशोधन, मीटर संबंधी शिकायतों, बिल सहित अन्य शिकायतों के निस्तारण के लिए 10 व 11 अक्तूबर को सभी 12 बिजली उपखंडों पर महा कैंप का आयोजन होगा। जिसमें उपभोक्ता पहुंचकर अपने बिजली संबंधी शिकायतों का निस्तारण करा सकते हैं।

जिले में बिजली विभाग को बेहतर बनाने के लिए हर हाल में बकाया वसूलने का लक्ष्य दिया गया है। सभी कर्मचारी अपने-अपने कार्यों को सुचारू रुप से गुणवत्तायुक्त करें और सप्ताह में एक दिन तय कर कैंप लगाएं। कैंप बकाया वसूलने के साथ ही उपभोक्ताओं की भी समस्या सुनने सहित अन्य समस्याओं का समाधान किया जाएगा। -एके मिश्रा, अधीक्षण अभियंता विद्युत।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad