- Ideal India News

Post Top Ad

#IIN
 सन्तोष कुमार नागर 
शाहगंज सोनभद्र 




पिछले कई माह से करोना काल में देश की सरकार द्वारा जनहित में बनाए गए नियम अब नहीं चलने वाला है क्योंकि अब जनता आर्थिक तंगी से परेशान नजर आ रही है इसलिए सभी नियम ताक पर रखकर स्वास्थ्य को खतरे में रखते हुए शहर के भीड़-भाड़ शहरों की तरफ दौड़ने लगे हैं बताते चलें कि गत 6 माह के बाद इन दिनों प्रत्येक शहरों रेलगाड़ियों बसों एवं उपभोक्ताओं की सामग्रियों के बिक्री वाले बाजारों में पूर्व की भात अत्यधिक भीड़ भाड़ देखने को मिल रहा है एक और जहां सवारी गाड़ियों में वाहनों में कोरोनावायरस करो ना के लिए बनाए गए नियमों का आम जनता के बीच उल्लंघन देखा जा रहा है वही बाजारों में शारीरिक दूरी का कहीं से अनुपालन नहीं हो रहा है तो फिर सरकार क्यों नहीं सभी रेलगाड़ियों को पूर्व की तरह संचालित कराने का अतिथि गृह कार्य करें जिससे आम नागरिकों को गंतव्य स्थानों तक आने जाने में असुविधा का सामना न करना पड़े ऐसी स्थिति में बुद्धिजीवियों ने सरकार का ध्यान आकृष्ट कराया है

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad