3 साल की बच्ची का हुआ अपहरण, तो बचाने के लिए ललितपुर से लेकर भोपाल तक नॉनस्टॉप दौड़ी ट्रेन - Ideal India News

Post Top Ad

3 साल की बच्ची का हुआ अपहरण, तो बचाने के लिए ललितपुर से लेकर भोपाल तक नॉनस्टॉप दौड़ी ट्रेन

Share This
#IIN



उत्तर प्रदेश के ललितपुर से एक तीन साल की मासमू बच्ची का अपहरण हो गया. इस बच्ची की जान बचाने के लिए एक ट्रेन को भोपाल तक नॉनस्टॉप दौड़ाया गया. बड़ी बात यह है कि इस दौरान ट्रेन को स्टेशन से खुलने के बाद बीच में कहीं भी नहीं रोका गया. ललितपुर से यह ट्रेन सीधे भोपाल रेलवे स्टेशन (Bhopal Railway Station) पर पहुंचने के बाद ही रुकी.

खुशी की बात यह है कि भोपाल पहुंचते ही बच्ची को बचा लिया गया. मामला ललितपुर रेलवे स्टेशन का है. यहां एक 3 साल की बच्ची का एक लड़के ने अपहरण कर लिया. वह मासूम बच्ची को गोद में लेकर भोपाल की ओर जा रही राप्तीसागर एक्सप्रेस में बैठ गया. इस चीज का खुलासा तब हुआ जब बच्ची की खोज करते उसके परिवार के लोग ललितपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे.

परिवार के लोगों ने अधिकारियों से शिकायत की कि उनकी बेटी रेलवे स्टेशन से लापता हुई. इसके बाद तुरंत ही आरपीएफ हरकत में आ गई. आरपीएफ ने रेलवे स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाला तो पता चला कि एक युवक बच्ची को गोद में लेकर ट्रेन में सवार हुआ है. वह ट्रेन स्टेशन से चल चुकी थी और अपहरणकर्ता बच्ची को लेकर फरार हो गया था.

इसके बाद झांसी में आरपीएफ के इंस्पेक्टर ने ऑपरेटिंग कंट्रोल भोपाल को मामले की पूरी जानकारी दी. फिर यह डिसाइड किया गया कि राप्तीसागर एक्सप्रेस ट्रेन को ललितपुर से लेकर भोपाल के बीच किसी भी स्टेशन पर नहीं रोका जाय. इसके बाद ऑपरेटिंग कंट्रोल भोपाल ने ट्रेन को ललितपुर से भोपाल तक नॉनस्टॉप दौड़ा दिया.

दरअसल, ट्रेन को इसलिए नॉनस्टॉप दौड़ाया गया, जिससे कि मासूम बच्ची का किडनैपर उसे बीच में पड़ने वाले किसी स्टेशन पर लेकर उतर कर न भागे. भोपाल रेलवे स्टेशन पर इस दौरान अपहरणकर्ता को दबोचने के लिए आरपीएफ के जवान बेसब्री से इंतजार कर रहे थे. ट्रेन जैसे ही भोपाल रेलवे स्टेशन पर पहुंची. आरपीएफ और जीआरपी के अफसरों ने उसे एक बोगी से खोज निकाला. इसके बाद किडनैप हुई मासूम बच्ची को सकुशल बरामद कर लिया गया. किडनैपर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और बच्ची को परिवार के लोगों को सौंप दिया गया.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad