हाथरस सामूहिक दुष्कर्म के खिलाफ फूटा गुस्सा , बलात्कारियों को सजा दिलाने सड़क पर उतरीं महिलाएं* - Ideal India News

Post Top Ad

हाथरस सामूहिक दुष्कर्म के खिलाफ फूटा गुस्सा , बलात्कारियों को सजा दिलाने सड़क पर उतरीं महिलाएं*

Share This
#IIN

डा यू एस भगत वाराणसी
*हाथरस सामूहिक दुष्कर्म के खिलाफ फूटा गुस्सा , बलात्कारियों को सजा दिलाने सड़क पर उतरीं महिलाएं*

 *प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में बेटियों ने भरी हुँकार अब ना सहेंगें अत्याचार*


 *असवारी गाँव में आक्रोशित महिलाओं ने  रैली निकाली, बलात्कारियों को फाँसी देने का किया मांग*

 *रोहनियाँ-* प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में  हाथरस में  दलित लड़की के साथ हुए सामूहिक बलात्कार की शिकार पीड़िता के दर्दनाक मौत पर  दुष्कर्मियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की माँग को लेकर दूसरे दिन भी सैकड़ों लड़कियां व महिलाएं सड़क पर उतरी। लोक समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम में महिलाओं ने इस घटना के आरोपियों को कठोर सजा देने की मांग को लेकर  रैली निकाली। महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगाने की मांग की गई है। दिल दहला देने वाली घटना से क्षुब्ध महिलाएं दुष्कर्मियों को फाँसी दो, महिला हिंसा बंद करो, छेड़खानी पर रोक लगाओ, चुप नही रहना है हिंसा नही सहना है, भ्रष्ट सरकार होश में आओ, महिलाओं को सुरक्षा दो आदि जोरदार नारे लगाये। लोगों ने बलात्कारियों को अविलम्ब सजा देने , पीड़िता के परिवार वालों को मुआवजा व सरकारी नौकरी तथा महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री से गुहार लगायी। अंत में महिलाओं ने हाथरस  की पीड़ित बेटी को श्रद्धांजलि दिया और महिला हिंसा को जड़ से मिटाने का संकल्प लिया।
लोक समिति के संयोजक नन्दलाल मास्टर ने कहा कि हाथरस में दरिंदों की शिकार हुई बेटी ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया. दरिंदों ने युवती से सिर्फ गैंगरेप ही नहीं किया बल्कि ऐसी हैवानियत की कि दिल्ली के निर्भया मामले की याद लोगों की जेहन में ताजा हो गईं.यूपी में कानून व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है। महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है। अपराधी खुले आम अपराध कर रहे हैं। इस बच्ची के कातिलों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।
महिला संगठन की संयोजिका अनीता पटेल  ने सरकार से मांग किया कि इस घटना की सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया जाए। घटना में दोषी पाए जाने वाले दरिंदों को फांसी की सजा दी जाए और किशोरी के परिवार को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता राशि, सरकारी नौकरी और उनके परिवार को सुरक्षा दी जाये।
किशोरी संगठन की संयोजिका सोनी ने कहा कि यह मानवता के लिए एक धब्बा है और हम सभी के लिए शर्मनाक है. हम दोषियों के लिए मौत की सजा की मांग करते हैं.
कार्यक्रम में मुख्य रूप से अनीता, आशा, सोनी,सरोज ,मधुबाला, खुशबू, वर्षा कलावती,अंजली, शमबानो,अमित, सीमा,श्यामसुन्दर, विजय,रामबचन,सुनील, पंचमुखी, प्रेमा  चंदा, राधिका विमला सरिता नीलम काजल अमीषा शीला मंजू संजू लालमणि अंजू उषा रेखा आदि लोग शामिल रहे। रैली का नेतृत्व महिला लोक समिति संयोजिका अनीता पटेल व सोनी ने किया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad