विद्युत कर्मचारी संघर्ष समिति का आंदोलन हुआ तेज निजीकरण के खिलाफ सभी कर्मचारी हुए लामबंद निकाला मशाल जुलूस - Ideal India News

Post Top Ad

विद्युत कर्मचारी संघर्ष समिति का आंदोलन हुआ तेज निजीकरण के खिलाफ सभी कर्मचारी हुए लामबंद निकाला मशाल जुलूस

Share This
#IIN
संजय पान्डेय ,मनोज पान्डेय आजमगढ़
विद्युत कर्मचारी संघर्ष समिति का आंदोलन हुआ तेज निजीकरण के खिलाफ सभी कर्मचारी हुए लामबंद निकाला मशाल जुलूस



सरकार निजीकरण का फैसला  वापस नही लिया तो 5 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर होंगे विद्युत कर्मी

आजमगढ़ विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के केंद्रीय आवाहन पर निजीकरण के विरुद्ध तय कार्यक्रम के अवसर पर सिधारी हाइडल कॉलोनी से मऊ रोड शंकर जी की मूर्ति सिधारी नया पुल व रायदोपुर के रास्ते कलेक्ट्रेट भवन आजमगढ़ तक मशाल जुलूस सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए निकाला गया



 यह जुलूस कलेक्ट्रेट भवन से होकर कचहरी के रास्ते होते हुए वापस सिधारी हाइडल कॉलोनी आकर समाप्त हुआ ज्ञातव्य है कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरुआती दौर में पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड को निजी हाथों में सौंपने के फैसले पर तेजी से आगे कदम बढ़ा रही है जिसको लेकर प्रदेश भर के विद्युत कर्मी संघर्ष समिति द्वारा निर्धारित किए गए कार्यक्रमों के अनुसार जगह-जगह विरोध सभा जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन देना जन जागरण का कार्यक्रम कर रहे हैं इसी क्रम में सरकार की हठधर्मिता को देखते हुए सभी संगठनों के सदस्य प्रदेश भर में मशाल जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शित कर रहे हैं
इस मौके पर संयुक्त संघर्ष समिति के आगामी कार्यक्रम की चर्चा में बताया गया है सरकार अपना निजी करण का फैसला यदि वापस नहीं लेती है तो प्रदेश भर के विद्युत कर्मी 5 अक्टूबर से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार कर चले जाएंगे जिससे बड़ा संकट उत्पन्न होने से इनकार नहीं किया जा सकता है
मशाल जुलूस कार्यक्रम का नेतृत्व विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति संयोजक श्री प्रभु नारायण पांडे प्रेमी जी ने किया इस कार्यक्रम में सैकड़ों विद्युत कर्मी जिसमें एक्ससियन निखिल शेखर सिंह, जय शंकर वर्मा ,आशुतोष, चंदन यादव ,राज सिंह ,जयप्रकाश यादव ,वेद प्रकाश ,धर्मु यादव ,अखिलानंद पांडे, आशीष सिंह ,श्रीवास्तव, जितेंद्र, शिवेंद्र रावत आदि ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और जबरदस्त मशाल जुलूस निकालकर आंदोलन निकाला गया

सहायक अभियंता
वीरेंद्र सिंह निजीकरण के खिलाफ मशाल जुलूस को संबोधित करते हुए


संजय पान्डेय आजमगढ़ की रिपोर्ट



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad