बृह्मांड में मिला एक विशालकाय ग्रह - Ideal India News

Post Top Ad

बृह्मांड में मिला एक विशालकाय ग्रह

Share This
#IIN





वाशिंगटन

 बृह्मांड में पहली बार ऐसे विशालकाय ग्रह का पता चला है, जो अपने से छोटे मृत सदृश तारे का चक्कर लगा रहा है। बृहस्पति ग्रह के आकार का यह ग्रह धरती से 80 प्रकाश वर्ष की दूरी पर है। प्रकाश वर्ष दूरी नापने की सबसे बड़ी इकाई है। एक प्रकाश वर्ष का मतलब प्रकाश द्वारा एक वर्ष में चली गई दूरी होती है। प्रकाश की रफ्तार तीन लाख किलोमीटर प्रति सेकेंड होती है। इस लिहाज से यह ग्रह धरती से बहुत दूर है। इस ग्रह की जानकारी साइंस जर्नल नेचर में प्रकाशित एक लेख से सार्वजनिक हुई है।

वैज्ञानिकों ने इस ग्रह को डब्ल्यूडी 1856 बी का नाम दिया है। यह ग्रह भी बृहस्पति के आकार का है। लेकिन यह जिस कक्षा में घूम रहा है, वह बहुत छोटी है। इसके परिणाम स्वरूप इसका ग्रह का एक साल महज 1.4 दिन का होता है। अर्थात यह अपनी कक्षा का चक्कर 1.4 दिन (34 घंटे) में पूरा कर लेता है। यह जानकारी अमेरिका की कंसास यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर इयान क्रॉसफील्ड ने दी है। शोधकर्ताओं ने पाया है कि इस ग्रह की बाहरी परत लाल रंग की है और इसके भीतरी भाग में घना कोहरा सा छाया हुआ है।

शोधकर्ताओं ने पाया है कि बृह्मांड में ऐसे भी ग्रह हैं जो किसी तारे या अन्य प्रकाश पुंज की परिक्रमा लगाते हुए अपना अस्तित्व कायम किए हुए हैं। डब्ल्यूडी 1856 बी सबसे पहले नासा के टेस स्पेस टेलीस्कोप से दिखाई दिया। इसके बाद कई सप्ताह तक इस पर नजर रखी गई। इसकी परिक्रमा की गति देखी गई। पाया गया कि यह एक छोटे से तारे के चक्कर लगा रहा है, जिसे व्हाइट ड्वार्फ जैसा है। यह तारा कुछ वैसा ही है, जैसा कि वैज्ञानिक सूर्य के पांच अरब साल बाद एक छोटे तारे में तब्दील होने की आशंका जताते हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad